‘रामायण के रावण’ अरविंद त्रिवेदी का हार्ट अटैक से निधन, लंबे समय से थे बीमार

शेयर करें:

बीते दिनों शो ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में नट्टू काका का किरदार निभाने वाले अभिनेता घनश्याम नायक के निधन से टीवी इंडस्ट्री में शोक की लहर थी और अब टीवी जगत से एक और दुखद समाचार सामने आया है। दरअसल, ‘रामायण’ में रावण बन लोकप्रिय हुए अभिनेता अरविंद त्रिवेदी ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया है। वह 82 साल के थे। हार्ट अटैक आने से उनका निधन हुआ है।
उनके निधन की जानकारी किसने दी, आइए जानते हैं।

कुछ समय से चलने में भी असमर्थ थे अभिनेता
अरविंद लंबे समय से बीमार चल रहे थे। कुछ वक्त से वह चलने में भी असमर्थ थे और बिस्तर पर ही थे। एक महीने पहले ही अरविंद अस्पताल से घर लौटे थे। उनके शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। बीती रात यानी 5 अक्टूबर को हार्ट अटैक ने उनकी जान ले ली। उन्होंने कांदिवाली स्थित अपने घर में आखिरी सांस ली। अरविंद के निधन की पुष्टि उनके भतीजे कौस्तुभ त्रिवेदी ने की है।

सुनील लहरी और दीपिका चिखलिया ने जताया शोक
‘रामायण’ में लक्ष्मण का किरदार निभाने वाले अभिनेता सुनील लहरी ने लिखा, ‘बहुत दुखद समाचार है कि हमारे प्यारे अरविंद भाई अब हमारे बीच नहीं रहे। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे। मैं कुछ भी कह नहीं पा रहा हूं। मैंने अपने पिता समान एक शुभचिंतक और सज्जन को खो दिया है।’ दूसरी तरफ धारावाहिक की सीता उर्फ दीपिका चिखलिया ने इंस्टाग्राम पर लिखा, ‘पूरे परिवार के प्रति मेरे दिल से संवेदनाएं। वह एक बहुत ही सुलझे हुए इंसान थे।’

फिल्ममेकर अशोक पंडित भी हुए गमगीन
फिल्ममेकर अशोक पंडित ने ट्वीट किया, ‘एक बेहतरीन थिएटर, टीवी और फिल्म कलाकार अरविंद त्रिवेदी के दिल का दौरा पड़ने के कारण हुए निधन ने गहरा दुख दिया है। परिवार को मेरी तरफ से दिल से संवेदना।’ सोशल मीडिया पर फैंस ने भी अपने पसंदीदा रावण को भारी मन से अलविदा कहा। एक यूजर ने लिखा, हर आत्मा को एक दिन अपने घर लौट जाना होता है। अरविंद त्रिवेदी हमें छोड़कर चले गए। भगवान आपकी आत्मा को शांति दे।

करीब 300 फिल्मों का हिस्सा रहे अरविंद त्रिवेदी
अरविंद त्रिवेदी का जन्म मध्य प्रदेश के उज्जैन शहर में हुआ था। उन्होंने गुजराती थिएटर से अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत की थी। गुजराती सिनेमा में अरविंद ने 40 वर्षों तक अपना योगदान दिया। अपने शानदार अभिनय के लिए उन्हें कई बार सम्मानित किया गया। जानकारी के मुताबिक, अरविंद हिंदी और गुजराती को मिलाकर करीब 300 फिल्मों में काम कर चुके थे।हालांकि हिंदीभाषी दर्शकों के बीच वह सबसे अधिक लोकप्रिय रामानंद सागर के पौराणिक धारावाहिक ‘रामायण’ से हुए थे।