आरक्षक ने अपने शासकीय आवास में फांसी लगाकर की आत्महत्या

शेयर करें:

जबलपुर @ थाना सिविल लाईन मे पदस्थ आरक्षक विक्रम जांगडे उम्र 27 वर्ष ने आज पुलिस लाईन स्थित अपने शासकीय आवास में पंखे के हुक में रस्सी से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। आरक्षक विक्रम जांगडे जो जिला छिंदवाडा के रहने वाले थे पुलिस लाईन स्थित शासकीय आवास मे अकेले रहते थे। आज सुबह जनरल परेड थी, परेड के बाद कुछ देर के बाद थाना गये थे, आरक्षक दिनेश उइके थाना सिविल लाईन में पदस्थ है, जो विक्रम जांगडे के सामने ही रहता है, दिनेश के घर पर विक्रम जांगडे का खाना बनता था, काफी देर तक विक्रम के खाने के लिये नही पहुँचने पर दिनेश ने जाकर देखा तो विक्रम जांगडे फांसी पर लटका हुआ मिला।

आरक्षक दिनेश के द्वारा सूचना देने पर तत्काल रक्षित निरीक्षक, थाना प्रभारी सिविल लाईन, न.पु.अ. ओमती, अति. पुलिस अधीक्षक शहर एवं पुलिस अधीक्षक जबलपुर मौके पर पहुंचे। सूचना पर पहुची एफएसएल टीम की उपस्थिति में पंचनामा कार्यवाही कर शव को पीएम हेतु भिजवाया गया, मर्ग कायम कर विस्तृत जांच की जा रही हैै।

पंचनामा कार्यवाही के दौरान एक सुसाईड नोट मिला है, जिसमें लिखा है कि ‘‘मै अपनी जिन्दगी की परेशानियों से हारकर अपनी जान दे रहा हूँ, कोई व्यक्ति मेरी मौत के लिये जिम्मेदार नहीं है, किसी को भी व्यर्थ परेशान न किया जाये, न ही किसी से मेरा नाम जोडा जाये। छोटे भाई छोटू अम्मा, और गुडिया का ख्याल रखना, अम्मा को हो सके तो रूक कर बताना, पापा सबको संभालना मै जा रहा हूँ। मोहल्ले वालों का त्योहार खराब कर रहा हूँ, माफी चाहता हूँ। दोस्तों ने भी हमेशा बहुत मदद की है, उनसे भी माफी चाहता हूॅ’’।