कुंडा की सियासत में राजा भैया का रूतबा कायम, दो जीते, 16 पर उनके प्रत्याशी आगे

शेयर करें:


प्रतापगढ़. उत्तर प्रदेश में हुए पंचायत चुनाव देखने को ग्रामीण क्षेत्रों के चुनाव हैं लेकिन सभी राजनीति दलों ने इसे बेहद मजबूती के साथ लड़ा. इस चुनाव में किसी भी पार्टी ने अपना सिंबल तो नहीं दिया लेकिन पार्टी समर्थिक प्रत्याशियों को चुनाव लड़ाया जिससे आगे की रणनीति पर काम किया जा सके. वहीं कुंडा में अपनी अलग से सत्ता चलाने वाले राजा भैया का जलवा बरकरार है.

सोमवार को आए दोपहर तक के रुझानों में राजा भैया की जनसत्ता दल लोकतांत्रिक 16 जिला पंचायत सीटों के रुझान में आगे चल रही है. जबकि कुंडा और संग्रामगढ़ की एक-एक सीट पर राजा भैया की पार्टी समर्थित प्रत्याशी की जीत भी हो चुकी है.अगर उनके प्रत्याशी जीतते हैं तो वे 2022 के विधानसभा चुनाव में अपनी मजबूत पकड़ को बनाए रखेंगे.

पंचायत चुनाव के नतीजे धीरे—धीरे आने लगे हैं. सपा, भाजपा, कांग्रेस, बसपा प्रदेश के कई जिलों में जिला पंचायत पद पर बढ़त बनाए हुए हैं. पूरे प्रदेश में भाजपा और सपा के बीच सीधी टक्कर देखने को मिल रही है तो कांग्रेस—बसपा भी पिछली बार अपेक्षा बेहतर प्रदर्शन करने में लगी है. दिन ढलने के साथ ही राजा भैया की पार्टी भी खूब चर्चा होने लगी.

राजा भैया की जनसत्ता दल लोकतांत्रिक के प्रत्याशी कुंडा में बेहतर स्थिति बनाए है. जिले की कुंडा, कालाकांकर, बाबागंज, संग्रामगढ़ में राजा भैया की जनसत्ता दल लोकतांत्रिक पार्टी के प्रत्याशियों को बढ़त मिली हुई है. जबकि कुंडा और संग्रामगढ़ की एक-एक सीट पर राजा भैया की पार्टी समर्थित प्रत्याशी की जीत भी हो चुकी है. बाकी के नतीजे भी जल्द लोगों के समने आएंगे. अभी भी जिले के अधिकतर सीटें पर मतगणना जारी, राजा भैया के पार्टी समर्थित प्रत्याशियों की बढ़त देख समर्थक उत्साहित हैं. हालांकि इस दौरान इन सीटों पर उलटफेर भी हो सकता है.