मप्र में बारिश ने मचाया कोहराम, बरगी डैम के 21 गेट खोले

शेयर करें:

जबलपुर. मप्र के कई जिले में हो रही बारिश से जबलपुर का बरगी बांध का जलस्तर निर्धारित सीमा से अधिक होने पर रविववार दोपहर सभी 21 गेट खोल दिए गए। डैम से तीन लाख 82 हजार 991 क्यूसेक पानी की निकासी होने से कुछ ही देर में नर्मदा तटों का जलस्तर बढ़ गया।

वहीं ग्वारीघाट के मंदिर डूबे नर्मदा नदी का जलस्तर बढऩे से ग्वारीघाट तट पर स्थित ज्यादातर मंदिर डूब गए। पुरोहितों और पूजन सामग्री बेचने वालों को सुरक्षित स्थान पर भेजा गया। देर शाम तक जलस्तर ग्वारीघाट थाना के पास तक पहुंच गया। पुलिसकर्मियों ने तट पर आने वालों के वाहनों को गणेश मंदिर के पास ही रोक दिया।

तिलवाराघाट का छोटा पुल डूब गया है। शनि मंदिर और विसर्जन कुं ड तक पानी पहुंंचने से तट के दोनों पहुंचमार्गों पर पुलिस तैनात है। भेड़ाघाट के दोनों पुल डूबे- भेड़ाघाट में लम्हेटाघाट छोर पर बना पुल और बैनगंगा नदी पर बना छोटा पुल डूबने से लम्हेटाघाट की ओर से भेड़ाघाट का सम्पर्क टूट गया।

भारी बारिश की चेतावनी मौसम विभाग में रडार प्रमुख वेद प्रकाश सिंह के अनुसार पूर्वी मध्यप्रदेश के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। इसका प्रभाव तीन दिन तक जबलपुर सम्भाग में बने रहने की सम्भावना है। आने वाले दो से तीन दिनों में सम्भाग के जिलों में अधिकतर स्थानों पर गरज-चमक के साथ वर्षा या बौछारे पडऩे का अनुमान है। आगामी 12 घंटे में जिले में कहीं-कहीं भारी वर्षा या तेज बौछार पडऩे की चेतावनी जारी की गई है।