NSA डोभाल पर तंज कसते-कसते राहुल गांधी को याद आ गया आतंकी मसूद ‘अजहर जी’!

शेयर करें:

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को भाजपा नीत केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि इस वक्त देश में 45 साल में सबसे ज्यादा बेरोजगारी है। उन्होंने कहा कि न्यूनतम आय सुनिश्चित करने की कांग्रेस की घोषणा से व्याकुल होकर प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों के लिए प्रति दिन 3.5 रुपये की घोषणा की है। राहुल ने दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में बूथ कार्यकर्ताओं से बातचीत के दौरान ये बातें कही।

राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मेक इन इंडिया कहते रहते हैं लेकिन उनकी कमीज, जूते और जिससे वह सेल्फी लेते हैं वह फोन चीन में बने हैं। राहुल ने दिल्ली में बूथ कार्यकर्ताओं से पूछा कि वे महात्मा गांधी का भारत चाहते हैं या गोडसे का भारत, एक के पास प्यार है और दूसरे के पास नफरत। बूथ कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा आपको दिल्ली में सभी सातों सीटों पर जीतना है।

राहुल गांधी के संबोधन की अहम बातें

संसद में प्रधानमंत्री ने डेढ़ घंटे भाषण दिया, जब कांग्रेस ने राफेल पर सवाल पूछा तो आंख से आंख नहीं मिला पाये। ये कांग्रेस पार्टी का कमाल है।

जैसे ही 2019 में कांग्रेस पार्टी की सरकार आयेगी, हिंदुस्तान के हर गरीब को ‘कम से कम आमदनी गारंटी करके’ दे दी जायेगी।

आज जो प्रधानमंत्री हैं, उनके मुंह से सच्चाई नहीं निकल सकती। नोटबंदी और जीएसटी से दिल्ली के छोटे दुकानदारों को, छोटे बिजनेस वालों को बर्बाद कर दिया।

पुलवामा हमले पर मोदी सरकार को घेरने के चक्कर में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बीजेपी को कांग्रेस पर निशाना साधने का मौका दे दिया. दिल्ली में बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन में राहुल गांधी ने आतंकी मसूद अजहर को ‘जी’ कहकर संबोधित किया, जिसके तुंरत बाद बीजेपी ने इस बयान को अपने ट्विटर पेज पर शेयर कर दिया.

दरअसल एनएसए अजीत डोभाल पर तंज कसने के दौरान राहुल गांधी ने कहा, ‘पुलवामा हमले में सीआरपीएफ के 40 से 45 जवान शहीद हो गए थे. सीआरपीएफ बस पर किसने बम फोड़ा? जैश-ए-मोहम्मद…मसूद अजहर ने… आपको याद होगा ना? यह वही मसूद अजहर है, जिसे 56 इंच वालों की तब की सरकार ने एयरक्राफ्ट में मसूद अजहर जी के साथ बैठकर अजीत डोभाल कंधार में हवाले करके आ गए थे.’

राहुल के बयान पर कांग्रेस की सफाई

राहुल के बयान पर बढ़ते विवाद को देखते हुए कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने सफाई दी है. उन्होंने ट्वीट किया, ‘राहुलजी के ‘मसूद’ कटाक्ष को जान-बुझ न समझने वाले भाजपाईयों व चुनिंदा गोदी मीडिया साथियों से 2 सवाल-: 1. क्या NSA श्री डोभाल आतंकवादी मसूद अज़हर को कंधार जा रिहा कर नहीं आए थे? 2. क्या मोदी जी ने पाक की ISI को पठानकोट आतंकवादी हमले की जाँच करने नहीं बुलाया?