जबलपुर : एनआरसी व सीएए के विरोध में सड़क में बच्चों को लेकर उतरी हजारों महिलायें, लगा लंबा जाम

शेयर करें:

जबलपुर :एनआरसी व सीएए के विरोध में आज बुधवार को रद्दी चौकी में मुस्लिम महिलाओं ,पुरषों व बच्चों ने प्रदर्शन करते हुए सड़क जाम कर दी तकरीबन एक से डेढ़ घँटे तक सड़क को जाम कर दिया गया जिसके चलते दमोह नाका से आधारताल ,सुहागी , पनागर ,सिहोरा जाने वाले राहगीरों व रद्दी चौकी से स्टेशन ,कोर्ट कलेक्ट्रेट जाने वाले राहगीरों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा।

इतना ही नहीँ इस दौरान ग्रामीण अंचलों से जबलपुर आने वाले लोगों को मुसीबतों का सामना करना पड़ा तो वहीं बसें व अन्य वाहन उल्टे लौटकर किसी तरह अपनी मंजिल पहुँचे लेकिन इस दौरान बीच मे उतरकर अपनी मंजिल में पहुँचने वाले राहगीरों को बड़ी तकलीफ हुई क्योंकि ग्रामीण इलाकों से जाने वाली बसें रद्दी चौकी से लौटकर वापिस अन्य रास्तों से सीधे दीनदयाल बस स्टैंड चलीं गईं।

दमोह नाका में रेंगी गाड़ियां
वहीं इस रद्दी चौकी के जाम का असर दमोह नाका में भी देखने को मिला जहाँ पर दीनदयाल बस स्टैंड से दमोह नाका जाने वाले वाहन रेंगते हुए निकले इतना ही नहीं ,बढ़ते ट्रैफिक व वाहनों की कछुआ चाल को देखते हुए कई यात्री वाहनों से बीच रास्ते मे ही उतर गए और पैदल ही अपनी मंजिल पहुँचे।

दमोह नाका से दीनदयाल बस स्टैंड की तरफ वाहनों का लगा लंबा जाम

सीएए-एनआरसी के खिलाफ सड़कों पर उतरीं महिलाएं
वहीं जबलपुर शहर में सीएए-एनआरसी के खिलाप मुस्लिम महिलाओं ने धरना प्रदर्शन किया इस दौरान गाजी बाग में जारी महिलाओं के धरने के अलावा मंडी मदार टेकरी से प्रदर्शनकारी महिलाओं का विशाल जुलूस निकाला गया।

मौलाना अनीसुर्रहमान कमेटी की जानिब से आयोजित इस रैली में हजारों की तादाद में प्रदर्शनकारी महिलाएं, युवतियां और बुजुर्ग महिलाओं ने एनआरसी व सीएए के विरोध करते हुए मंडी मदार टेकरी से रैली निकालते हुए आगे बढ़ी महिलाओं का यह काफिला रद्दी चौकी पहुंचा। जहां राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन सौंपा गया। इसके बाद रैली में शामिल महिलाओं ने गाजी बाग में आयोजित धरने स्थल पहुँची ।

महिलाओं की तादाद इतनी थी कि धरना स्थल पर पैर रखने जगह नहीं। नतीजा रैली में शामिल महिलाओं ने गोहलपुर-रद्दी मार्ग पर ही बैठ गई।वहीं मुफ्तिया अज़रा फातिमा ने इज़तीमाई दुआ मांगी जहाँ हजारो की संख्या में प्रदर्शनकारी महिलाओं ने सिरकत की इस दौरान तकरीबन एक से डेढ़ घँटे तक के लिए रद्दी चौकी पर यातायात बाधित रहा। रैली के दौरान भारी संख्या में पुलिस बल के साथ महिला पुलिसकर्मी तैनात रहीं।