प्रधानमंत्री ने छात्रों को दिए परीक्षा के मंत्र

शेयर करें:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी छात्रों को परीक्षाओें के तनाव से मुक्त करने पर हमेशा से ज़ोर देते रहे हैं। इस अहम मुद्दे पर प्रधानमंत्री ने नई दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में छात्रों से संवाद किया। प्रधानमंत्री मोदी कार्यक्रम में शामिल होने से पहले छात्रों की बनाई पेंटिंग प्रदर्शनी को भी देखा।

प्रधानमंत्री ने इस मौक़े पर अपने शिक्षकों को धन्यवाद देते हुए कहा कि हमेशा विद्यार्थी बनें रहना तनाव की बात नहीं बल्कि ख़ुशी की बात है। प्रधानमंत्री ने छात्रों से संवाद करते हुए आत्मविश्वास को बढ़ाने और इसे पाने के लिए लगातार परिश्रम करने की सलाह दी।

प्रधानमंत्री ने किसी भी विषय या जीवन के उद्श्यों के प्रति ध्यान केंद्रीत करने कि स्वास्थ खान पान के साथ सिर्फ सहजता से अपना काम करने की सलाह दी। बच्चों में बढ़ती प्रतिस्पर्धा के बीच प्रधानमंत्री ने किसी का अनुकरण नहीं करने की सलाह दी। उन्होने ख़ुद से ही स्पर्धा करने को श्रेयस्कर बताया।

प्रधानमंत्री ने अभिभावकों से अपील की कि वे अपने बच्चों की तुलना ना करें…साथ ही उन्होने कहा कि बच्चों की क्षमता सबमें अलग-अलग हैं और वे उसी क्षमता के ज़रिए ही आगे बढ़ सकते हैं।

इस मौके पर मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि शिक्षा को हर स्तर पर मजबूत करना केंद्र सरकार का लक्ष्य है। उन्होनें कहा छात्रों से लेकर शिक्षिकों के लिए खास योजनाएं बनाई गई है ताकि शिक्षा के मौजूदा स्तर को बढाया जा सके। साथ ही उन्होनें कहा कि देश के युवा देश की ताकत बन सके, देश के विकास में भागीदार बन सके इसके लिए सरकार का ज़ोर रिर्सच के काम पर है।