रोजगार के मुद्दे पर प्रधानमंत्री ने आलोचकों को दिया जवाब

शेयर करें:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रोजगार के मोर्चे पर विरोधियों को जवाब दिया। एक मैगज़ीन को दिए इंटरव्यू में कहा- रोजगार की नहीं है कमी। सितंबर 2017 से अप्रैल 2018 तक 41 लाख से अधिक नौकरियों का निर्माण हुआ है। पिछले साल संगठित क्षेत्र में 70 लाख नौकरियां पैदा हुईं हैं।

रोजगार और नौकरियों से जुड़े मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष की आलोचनाओं का कड़ा जवाब दिया है। स्वराज्य मैगजीन को दिए एक इंटरव्यू में पीएम ने कहा कि देश में रोजगार की कहीं कोई कमी नहीं है। उन्होंने ईपीएफओ का हवाला देते हुए कहा कि पिछले साल संगठित क्षेत्र में 70 लाख और अंसगठित क्षेत्र में 80 फीसदी नौकरियां पैदा हुई।

उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर, नौकरियों की कमी से अधिक मुद्दा नौकरियों पर डेटा की कमी है। उन्होंने विरोधियों की आलोचना करने की बजाय नौकरियों को मापने के तरीके पर सवाल उठाए। प्रधानमंत्री ने कहा कि ईपीएफओ पेरोल डेटा के आधार पर सितंबर 2017 से अप्रैल 2018 तक 41 लाख से अधिक औपचारिक नौकरियों का निर्माण हुआ। जबकि पिछले साल औपचारिक क्षेत्र में 70 लाख से ज्यादा नौकरियां पैदा हुई थीं।