लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विपक्ष पर जोरदार हमला

शेयर करें:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर लोकसभा में चर्चा का जवाब दिया। प्रधानमंत्री ने कहा कि सरदार वल्लभ भाई पटेल अगर देश के पहले प्रधानमंत्री होते तो कश्मीर समस्या नहीं होती।

प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस के बंटवारे के जहर की कीमत आज भी देश चुका रहा है। उन्होनें कहा कि आजादी के 70 साल बाद भी एक दिन भी ऐसा नहीं जाता है जब उसकी सजा सवा सौ करोड़ देशवासियों को न भुगतनी पड़ती हो।

प्रधानमंत्री ने कांग्रेस को करारा जवाब देते हुए कहा कि कांग्रेस लोकतंत्र की बात करने के लायक नहीं है। कांग्रेस के नेता और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने अपनी ही पार्टी के आंध्र प्रदेश के दलित मुख्यमंत्री का अपमान किया था।

प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि सिर्फ चुनावों की वजह से जल्दबाजी में आंध्र प्रदेश का विभाजन किया गया था। प्रधानमंत्री ने कहा कि ग़रीबों के स्वास्थ्य को ध्यान में रख कर हम आयुष्मान भारत योजना लेकर आए हैं, लेकिन विपक्ष इस पर भी हमारी आलोचना करने में लगा है।

प्रधानमंत्री ने नया भारत पर कांग्रेस के नकारात्मक रूख को आड़े हाथों लिया । उन्होंने कहा कि बेहतर भविष्य के लिए हमें एक नया भारत बनाना होगा । और नये भारत के सपने को पूरा करने के लिए सबको मिलकर काम करना होगा।

बैंकों के एनपीए के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए प्रधानमंत्री ने कहा है कि बैंकों पर बढ़ते एनपीए के लिए पिछली यूपीए सरकार की कार्यप्रणाली जिम्मेदार है।