प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रवांडा में भारत-रवांडा बिजनेस फोरम को किया संबोधित

शेयर करें:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन दिनों तीन अफ्रीकी देशों की यात्रा पर हैं। रवांडा जाने वाले वे पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं। रवांडा में आज उन्होंने आज एक बिजनेस फोरम में हिस्सा लिया और दोनों के उद्योगपतियों को संबोधित किया। उन्होंने एक बार फिर कहा कि सबका साथ सबका विकास भारत का मूल मंत्र है।

उन्होंने मेक इन इंडिया को दोनों देशों के लिए लाभकारी बताया और रवांडा के विकास मॉडल की सराहना की। भारत में निवेश के लिए रवांडा के उद्योगपतियों को आमंत्रित किया और उन्हें आश्वासन दिया कि भारत का व्यापारिक समुदाय रवांडा की विकास गाथा में भागीदार होगा।

इससे पहले आज प्रधानमंत्री ने रवांडा के रवेरू मॉडल गांव का दौरा किया और ‘गिरिंका’ योजना के तहत रवांडा के लोगों को 200 गायें तोहफे में दीं। दरअसल, रवांडा को गाय देने के पीछे का मुख्य कारण रवांडा सरकार की ओर से चलाई जा रही है एक योजना है जिसका नाम ‘गिरिंका’ है। इस योजना के तहत सरकार वहां पर कुपोषण दूर करने के लिये 3.50 लाख गांवों को गाय देगी और फिर उसके पैदा हुई एक बछिया को वह अपने पड़ोसी को देगा।

‘गिरिंका’ गरीबी उन्मूलन के लिए रंवाडा की सरकार का एक अहम कार्यक्रम है। गिरिंका का मतलब होता है ‘एक गाय रखिए’। रवांडा की सरकार ने साल 2006 में ‘एक गरीब परिवार के लिए एक गाय’ योजना लॉन्च की थी। इस योजना के जरिए कई परिवार गरीबी के दुष्चक्र से बाहर निकले हैं। रवांडा सरकार का दावा है कि इस योजना से लाखों परिवारों को फायदा मिला है।

इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत शहद के उत्पादन में भी रवांडा की मदद कर सकता है। रवांडा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज किगाली नरसंहार स्मारक का दौरा किया। स्मारक में 1994 में रवांडा में हुए नरसंहार के दौरान मारे गए तुत्सी समुदाय के ढाई लाख से अधिक लोगों से जुड़ी यादों को संजोया गया है। इससे पहले कल रवांडा की राजधानी कगाई में प्रतिनिधिमण्डल स्तर की वार्ता के बाद दोनों देशों के बीच रक्षा, कृषि, डेयरी और चमड़ा उद्योग समेत अलग-अलग क्षेत्रों में क्षमता विकास को लेकर समझौते हुए।