प्रधानमंत्रीः कांग्रेस ने दिया टैंकर राज को बढ़ावा

शेयर करें:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर लगाया टैंकर राज को बढ़ावा देने का आरोप, धंधुका में चुनावी रैली को किया संबोधित, सुचारू जल आपूर्ति के लिए भाजपा सरकार के प्रयासों को सराहा।

गुजरात विधानसभा चुनाव में 9 दिसंबर को पहले चरण का मतदान होना है। ऐसे में अंतिम दौर का चुनाव प्रचार चरम पर है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपनी चुनावी रैलियों को लेकर आज एक बार फिर गुजरात में हैं। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री अब तक राज्य में 15 चुनावी रैलियां को संबोधित कर चुके हैं।

आज के अपने चुनावी कार्यक्रम की शुरुआत प्रधानमंत्री ने धंधुका से की। उन्होने ग़रीबों और वंचितों के प्रति डॉ भीमराव अंबेडकर के अभूतपूर्व योगदान को याद किया। प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर टैंकर राज को बढ़ावा देने का आरोप लगाया। प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर चुटकी लेते हुए कहा कि राज्य के चुनाव में कांग्रेस भी ओखी की तरह ही कमज़ोर पड़ जाऐगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने सिर्फ एक परिवार का भला करने के लिए सिर्फ सरदार पटेल ही नहीं बल्कि बाबा साहेब और इन्ही की तरह कई लोगों के योगदान को नज़रअंदाज किया और जानबूझ कर ऐसे लोगों के ख़िलाफ़ साज़िश की।

डॉ अंबेडकर को उनके महापरिनिर्वाण दिवस पर श्रृद्धांजलि देते हुए प्रधानमंत्री ने धाधुंका के चुनावी रैली में कहा कि बाबा साहेब ने देश के सभी इलाक़ों में सिंचाई के लिए सोचा था। उन्होने कहा कि कांग्रेस का दोहरा चरित्र सभी के सामने है। कांग्रेस के नेता एक तरफ महिला के अधिकारों के ख़िलाफ़ तीन तलाक़ को बनाए रखने के लिए कोर्ट में खड़े होते हैं और साथ ही ये राम मंदिर जैसे मुद्दों पर भी खुली राजनीति करते हैं।

इस बीच, खराब मौसम के चलते गुजरात में चुनाव प्रचार पर भी प्रतिकूल असर पड़ा। कल सौराष्‍ट्र में राजुला, महुवा और शिहोर में भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह की चुनावी जनसभाएं रद्द कर दी गई। खराब मौसम के चलते कल कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी की भी दो रैलियां रद्द हुई जबकि आज भी उनकी रैलियों को रदद करना पडा है। हालांकि कल राहुल ने अंजार में एक रैली में गुजरात सरकार के कामकाज पर सवाल खड़े किए।

हालांकि अब राहुल गांधी चुनावी माहौल में ग़लत तथ्यों को सामने रखने के आरोपों में घिर गए हैं। दरअसल राहुल ने ट्विटर पर सरकार से एक सवाल पूछा लेकिन उसमें दिये आंकड़ों में वे गलती कर बैठे। राहुल गांधी ने बाद में एक और ट्वीट कर गलती सुधारने की कोशिश की। राहुल के ट्वीट पर बीजेपी ने जहां कांग्रेस नेता को घेरने की कोशिश की वहीं, कांग्रेस बचाव की मुद्रा में दिख रही है.