राष्ट्रपति ने डॉ अंबेडकर के बताए रास्ते पर चलने का युवाओं से किया आह्वान

शेयर करें:

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद सोमवार को नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित डॉ भीमराव अंबेडकर के चिंतन से जुड़े ‘इंटरनेशनल अंबेडकर कॉन्क्लेव’ में शामिल हुए

अपने संबोधन में राष्ट्रपति ने कहा कि समाज के पिछड़े तबके ख़ासतौर से अनुसूचित जाति और जनजाति को सशक्त बनाने में शिक्षा महत्वपूर्ण माध्यम हो सकता है. इस मौके पर राष्ट्रपति ने कहा कि डॉ अंबेडकर ने शिक्षा के बुनियादी महत्व पर जोर दिया. राष्ट्रपति ने युवाओं से डॉ अंबेडकर के बताए रास्ते पर चलने का अह्वान किया.