प्रयागराज पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी : प्रतापगढ़ का ₹25000 का इनामी हिस्ट्रीशीटर चढ़ा पुलिस के हत्थे

शेयर करें:

प्रतापगढ़ ( जीतेन्द्र तिवारी )। प्रयागराज रेंज पुलिस द्वारा एक बड़ी कामयाबी हासिल की गई है। एक शातिर अपराधी आलोक मिश्रा पुत्र सत्येंद्र नाथ मिश्रा नि0- इटौरी थाना लालगंज जनपद प्रतापगढ़ का मजारिया हिस्ट्रीशीटर है। इसके विरुद्ध थाना गाजीपुर जनपद लखनऊ में अंकित सिंह द्वारा फ्रॉड का मुकदमा पंजीकृत कराया गया है।

आलोक मिश्रा एवं धर्मा इंटरप्राइजेज ने मिलकर डिजिटल राशन कार्ड बनाने की एजेंसी देने के नाम पर प्रत्येक व्यक्ति से 10 से 15 लाख रुपए तथा कुल 3 से 4 करोड़ रुपए धोखाधड़ी से लेकर ठगी की, जिसके संबंध में थाना गाजीपुर जनपद लखनऊ में मुकदमा पंजीकृत है। मुकदमा अपराध संख्या 541/16 धारा 419 420 467 468 471 आईपीसी थाना लालगंज जनपद प्रतापगढ़ से ₹25000 का इनामी वांछित अपराधी है।

यह एक शातिर दिमाग का व्यक्ति है। ये लोगों से पैसा ठगने में माहिर है। इसने प्रतापगढ़ में मारपीट एवं नौकरी के देने के नाम पर ठगी किया है। प्रयागराज जनपद में भी हत्या के मामले में यह नामित अभियुक्त है। इसी तरह से प्रयागराज में भी लोगों के फर्जी खाते से डॉक्यूमेंट के आधार पर पैसा निकालना।

ठगी के द्वारा लोगों को चिट करना, अपराधिक घटनाएं करना इसका काम है। इसके पास गाँव मे मुश्किल से डेढ़ से 2 बीघा जमीन है लेकीन लखनऊ में डेढ़ से दो करोड का मकान है। वहां पर 2 बीघे की प्रॉपर्टी डीलिंग प्लॉटिंग का यह काम कर रहा है। लोगों को चीट करके और डरा धमका कर लोगों से पैसा वसूली करने का इसका कार्य है। इसके खिलाफ गैंगस्टर के तहत कार्यवाही की जा रही है।

उक्त घटना का अनावरण करने में शामिल समस्त पुलिसकर्मियों, जोन सर्विलांस की टीम के प्रभारी बृंदावन राय व उनकी टीम को एवं जनपद प्रतापगढ़ के प्रभारी निरीक्षक रणजीत भदौरिया व लोकल स्थानीय थाने की टीम को अपर पुलिस महानिदेशक प्रेम पकाश द्वारा 1 लाख व पुलिस महानिरीक्षक प्रयागराज रेंज, प्रयागराज कवीन्द्र प्रताप सिंह द्वारा ₹50000 से पुरस्कृत किया गया है साथ ही समस्त पुलिसकर्मियों को बधाई भी दी गयी