दिल्ली में दंगे के दौरान हुई प्रतापगढ़ के युवक की मौत

शेयर करें:

शव पैतृक गांव बरहूपुर पहुंचने पर परिजनों में मचा कोहराम

दिल्ली के पटेल नगर मोहल्ले में मंगलवार की रात घटी। पोस्टमार्टम के बाद बीती रात परिजनों को लाश मिली।पट्टी थाना क्षेत्र के बरहूपुर गांव निवासी अच्छेलाल पुत्र पारसनाथ दिल्ली में नौकरी करते हैं और पटेल नगर में परिवार के सहित काफी दिनों से निवास कर रहे हैं । बीते मंगलवार की रात दंगे में उनकी मौत हो गई तथा उनके भतीजे कमलेश को गंभीर चोटे आई। दंगा थमने पर एंबुलेंस द्वारा अस्पताल पहुंचाया गया।

जहां अच्छेलाल को मृत घोषित कर दिया गया। चारों तरफ अफरा तफरी होने के कारण पोस्टमार्टम नहीं हो पा रहा था। लोग लग कर किसी तरह पोस्टमार्टम कराए। तब जाकर के रात में लाश मिली। मृतक अच्छे लाल के तीन पुत्र हैं। जिनकी उम्र 15 साल से कम है ।अच्छे लाल का घर भी जला दिया गया सारी गिरस्ती जलकर खाक हो गई।

परिजनों के साथ ही रिश्तेदार भी उनके आवास पर पहुंचे और उनकी अंतिम क्रिया में शामिल हुए ।वहां का मंजर देख कर उनके परिजन अभी सहमे हुए हैं। कुछ लोग बता रहे हैं कि घर में रखा हुआ सिलेंडर आगजनी पर फट गया। जिसके कारण पूरी बिल्डिंग उड़ गई। जो लोग बाहर थे वही बचे। अच्छेलाल के साथ ही वहां के लगभग 8- 10 लोगों की मौत हुई।

अच्छे लाल का केवल एक पुत्र उनके साथ दिल्ली में रहता था घटना के समय वह भी घर के अंदर नहीं था जिससे कि वह बच गया। बाकी अन्य परिजन कंधई थाना क्षेत्र के बरहूपुर गांव में रहते हैं। जिससे कि बाकी परिजनों की जिंदगी बच गई। एक भतीजा भी मृतक के साथ था जिसे गंभीर चोट आई है और वह मरणासन्न स्थिति में है। शव को अंतिम संस्कार के लिए प्रयागराज लेकर रवाना परिजन और ग्रामीण रवाना हो गए। गांव में चारों तरफ मातम पसरा हुआ है