घर के सामने खेलते-खेलते लापता हुई साढ़े तीन वर्षिय बालिका को पुलिस ने 24 घंटे में आरोपी सहित बच्ची बरामद

शेयर करें:

जबलपुर। थाना गोहलपुर में श्रीमति दुर्गा बाई कुड़ापे उम्र 30 वर्ष ने रिपोट्र दर्ज करायी कि वह मूलतः ग्राम खकरा निवास जिला मण्डला की रहने वाली है, जबलपुर स्थित भोला नगर में झुग्गी झोपडी बनाकर पति एवं बच्चियों के साथ रहती है। उसका पति मिस्त्री का काम करता है तथा वह चाय का ठेला चलाती है। शाम 5-30 बजे से 6-30 बजे के बीच उसकी छोटी बेटी कु. महिमा उर्फ रानी उम्र 3 वर्ष 6 माह की घर के सामने खेल रही थी वह किराना दुकान चांवल लेने गयी थी थोडी देर बाद लौटी तो देखा कि घर के सामने खेल रही उसकी साढे तीन वर्षिय बेटी कु. महिमा गायब थी। बेटी की तलाश की पता नहीं चला है उसे शंका है कि कोई अज्ञात व्यक्ति उसकी बेटी केा बहला फुसलाकर ले गया है ।

मासूम बच्ची के अपहरण किए जाने की खबर से सनसनी फैल गई, पुलिस अधिकारियों ने मामले को गंभीरता से लेते हुए मासूम बच्ची की तलाश में अलग अलग टीमों को दौड़ा दिया थारिपोर्ट पर अज्ञात के विरूद्ध धारा 363 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया।

घटना को गम्भीरता से लेते हुये पुलिस ने की टीम गठित 

पुलिस अधीक्षक अमित सिंह द्वारा घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये लापता बालिका की तलाश पतासाजी हेतु दिये गये निर्देशों के तहत अति. पुलिस अधीक्षक शहर दक्षिण डॉ संजीव उइके, अति. पुलिस अधीक्षक ग्रामीण/अपराध शिवेश सिहं तथा नगर पुलिस अधीक्षक गोहलपुर अखिलेश गौर के मार्ग निर्देशन में थाना प्रभारी गोहलपुर आर.के. गैातम के नेतृत्व में थाना गोहलपुर एवं क्राईम ब्रांच की टीम गठित की गयी जिनके द्वारा साढे तीन वर्षिय बालिका कु. महिमा उर्फ रानी को सरगर्मी से तलाश करते हुये मझोली निवासी गुड्डा बर्मन पिता गंगा राम बर्मन उम्र 32 वर्ष के कब्जे से मझोली मे दस्तयाब किया किया। कु. महिमा को सुरक्षित परिजनों के सुपुर्द करते हुये आरोपी गुड्डा बर्मन को अभिरक्षा मे लेते हुये पूछताछ जारी है।

उल्लेखनीय है कि आरोपी गुड्डा बर्मन कु. महिमा उर्फ रानी के नाना का परिचित है, बच्ची का नाना भी भोला नगर स्थित झुग्गी झोपडी में रहता है, नाना से मिलने दिनॉक 22-2-2020 को भोला नगर गुड्डा बर्मन गया था। शंका होने पर गुड्डा बर्मन की हर सम्भावित स्थानों पर एवं रिश्तेदारियों में दबिश दी जा रही थी।

इनकी रही उल्लेखनीय भूमिका:

24 घंटे के अंदर बच्ची को दस्तयाब करने में थाना प्रभारी गोहलपुर श्री आर.के. गैातम, उप निरीक्षक सहदेव साहू, ओमकार मसराम, मयंक यादव, प्रधान आरक्षक राघवेन्द्र, मानसिंह, विनोद, आरक्षक धीरेन्द्र, आशीष असाटी, आशीष तिवारी, राजा, संजय, सादिक, अंद्रेश,उलिश परस्ते,महिला आरक्षक प्रेमलताकी सराहनीय भूमिका रहीं । पुलिस अधीक्षक अमित सिंह ने टीम को 10 हजार रूपये के नगद पुरूस्कार से पुरूस्कृत करने की घोषणा की है।