राष्ट्रपति के आगमन पर पुलिस अलर्ट, 2 हजार जवान सुरक्षा में होंगे तैनात

शेयर करें:

जबलपुर@ राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के आगमन को लेकर पुलिस पूरी तरह अलर्ट है। प्रोटोकॉल के तहत राष्ट्रपति की सुरक्षा व्यवस्थाओं को पूरा करने के लिए पुलिस के आला अधिकारी लगातार काम कर रहे हैं। राष्ट्रपति एवं उनके साथ आने वाले अन्य वीवीआईपी के लिए 40 पायलट अधिकारियों तथा 80 पीएसओ (पर्सनल सिक्योरिटी ऑफीसर) को ट्रेन्ड कर दिया गया है। 40 से 50 राजपत्रित अधिकारी रहेंगे। राष्ट्रपति की सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस मुख्यालय से 2 हजार का अतिरिक्त बल मांगा गया है। आईजी भगवत सिंह चौहान एवं एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा हर रोज व्यवस्थाओं की समीक्षा कर आवश्यक दिशानिर्देश दे रहे हैं। शहर में सघन चेकिंग अभियान के साथ ही साथ बाहर से आने वालों पर पुलिस की पैनी नजर रहेगी।

पुलिस कप्तान सिद्धार्थ बहुगुणा ने बताया कि महामहिम के आगमन को लेकर पुलिस की व्यापक तैयारियां है। शहर के होटल, ढाबों व वाहनों की लगातार चैकिंग की जा रही है, लगातार गुंडों की धरपकड़ की जा रही है। इसके साथ ही शहर में बाहर से आने वालों पर पूरी नजर रहेगी। सुरक्षा व्यवस्था को लेकर करीब दो हजार का बल मिलने का अनुमान है। एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा एवं कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने सर्किट हाउस, ग्वारीघाट, भेड़ाघाट पहुंचकर राष्ट्रपति के आगमन को लेकर की जा रही व्यवस्थाओं का जायजा लिया और अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

जानकारी के अनुसार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का आगमन 6 मार्च को संभावित है। यहां वह मध्यप्रदेश न्यायिक अकादमी के कार्यक्रम में शामिल होंगे। इसके बाद अगले दिन 7 मार्च को दमोह जिले में एक कार्यक्रम में शामिल होंगे। महामहिम के आगमन को लेकर पुलिस-प्रशासन द्वारा सुरक्षा व्यवस्था को लेकर व्यापक स्तर पर तैयारियां की जा रही हैं। आरआई सौरभ तिवारी ने बताया कि राष्ट्रपति एवं उनके साथ आने वाले वीवीआईपी के लिए 40 पायलट अधिकारियों तथा 40 पीएसओ को प्रशिक्षण देकर तैयार कर लिया गया है। जिन्हे वीवीआईपी के वाहनों के आगे चलने पायलट व्हीकल एवं फॉलो वाहनों में तैनात किया जाएगा।

पायलट एवं फॉलो के लिए वाहनों की आवश्यकता पूरी करने के लिए जिला प्रशासन से 131 वाहनों की मांग की गई है। राष्ट्रपति के आगमन को लेकर आईबी एवं एलआईबी भी सक्रिय हो चुकी हैं। आईजी एवं एलआईबी की टीमें चौबीसों घंटे काम कर इनपुट ले रही हैं। वहीं पुलिस ने भी अपने सभी मुखबिरों को सक्रिय कर दिया है, जिससे सुरक्षा में किसी भी प्रकार की कोई चूक न हो पाए। प्रोटोकॉल के हिसाब से राष्ट्रपति की सुरक्षा के लिए तैनात रहने वाली एसपीजी सहित अन्य विशेष टीमें भी जल्द ही शहर पहुंचेंगी।