संसद के दोनों सदनों में पीएम ने विपक्ष पर बोला जोरदार हमला

शेयर करें:

पीएम मोदी ने आज बेहद आक्रामक अंदाज में कांग्रेस समेत विपक्ष पर निशाना साधा। पीएम मोदी ने कांग्रेस के शासनकाल की तमाम कमियां गिनाई तो अपनी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र किया।

लोकसभा में बोलते हुए आज पीएम मोदी ने विपक्ष को बिना नीतियों के विरोध करने के लिये घेरा तो नये भारत के निर्माण में रचनात्मक सहयोग के लिये सहयोग भी मांगा।

पीएम मोदी का यह आक्रामक अंदाज बुधवार को राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव के जवाब के दौरान दिखा । कांग्रेस सदस्यों के हंगामे के बीच पीएम ने जब अपनी बात रखनी शुरु की तो कांग्रेस पर जमकर हमले किए और सरकार पर लगाए जा रहे आरोपों का अपने धुआंधार अंदाज में जवाब दिया।

वंशवाद को बढावा देने , भ्रष्टाचार को संरक्षण देने और विकास को नजरंदाज करने जैसे तमाम मसलों पर पीएम ने अपनी दलीलों के जरिए कांग्रेस की बोलती बंद कर दी । पीएम ने कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव पर सवाल उठाए और पूछा कि कांग्रेस अध्‍यक्ष का चुनाव हुआ या ताजपोशी।

सरकार के विकास कार्यों पर सवाल खडे करने वाले विपक्ष को पीएम ने आंकडों के जरिए करारा जवाब दिया । पीएम ने कहा कि पिछली सरकार में हर दिन 11 किलोमीटर हाइवे बनते थे, अब हर दिन 22 किलोमीटर हाईवे बनता है । उन्होंने कहा कि पिछली सरकार के 3 साल में 80000 किलोमीटर सड़कें बनीं, जबकि हमारी सरकार में एक लाख बीस हजार किलोमीटर बनीं। यूपीए के आखिरी तीन सालों में 1100 किलोमीटर नई रेल लाइन बनी जबकि एनडीए ने 2100 किलोमीटर बना दिया । यूपीए के आखिरी तीन साल में 2500 किलोमीटर रेल लाइन का विद्युतीकरण हुआ जबकि एनडीए के तीन साल में ये आंकडा 4300 किलोमीटर पहुंच गया ।

पीएम ने कहा कि साल 2011 के बाद पिछली सरकार 2014 तक ऑप्टिक फाइबर नेटवर्क सिर्फ 59 पंचायतों तक नेटवर्क पहुंचा सकी जबकि एनडीए सरकार में आने के बाद 1 लाख पंचायतों में ऑप्टिक फाइबर नेटवर्क पहुंचा दिया। प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना में यूपीए ने 939 शहरों में लागू की जबकि एनडीए में ये आंकडा 4320 शहरों तक पहुंच गया ।

पीएम ने आधार और डीबीटी जैसी योजनाओं का जिक्र करते हुए आंकडों के जरिए बताया कि कैसे इसके जरिए यूपीए राज में दलाली और भ्रष्टाचार होता जबकि अब दलाली बंद हो गयी है और लोगों का पैसा सीधे खाते में जा रहा है ।

पीएम मोदी ने सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि मध्‍यम वर्ग को गलत दिशा में ले जाया जा रहा है। उनकी जिंदगी को बेहतर और आसान बनाने के लिए सरकार काम कर रही हैं। पीएम मोदी ने कहा कि सरकार किसानों की आय दोगुना करने पर काम कर रही है । उन्होंने यह भी कहा कि जनधन योजना से गरीबों का आत्‍मविश्‍वास बढ़ा। उन्‍हें स्‍वास्‍थ्‍य योजनाओं का लाभ मिला। उन्‍होंने पूर्वोत्‍तर का जिक्र करते हुए कहा कि 2014 में सरकार बनाने के बाद सरकार ने पूर्वोत्‍तर को प्राथमिकता दी और इसके विकास के लिए काम किया। सबसे लंबी सुरंग, सबसे तेज ट्रेन, सबसे लंबी सुरंग , और 104 सेटलाइट छोड़ने का काम इसी सरकार में हुआ।

कांग्रेस पर केवल शिलान्यास करने का आरोप लगाते हुए कहा कि सिर्फ घोषणाएं करके जनता की आंखों में धूल झोंकना एनडीए सरकार का काम नहीं हैं। पीएम ने कहा कि बाडमेर रिफाइनरी का काम केवल सिर्फ कागजों पर किया गया।

पीएम ने एनपीए को लेकर भी कांग्रेस पर हमला बोला और इसे कांग्रेस का पाप बताया।

पीएम मोदी ने कांग्रेस पर विदेश में भारत की छवि खराब करने का आरोप लगाया। उन्‍होंने कहा कि जब देश डोकलाम में लड़ाई लड़ रहा था तो आप चीन के लोगों से मिल रहे थे। पीएम ने सर्जिकल स्ट्राइक पर सवालिया निशान खड़ा करने पर भी कांग्रेस को घेरा । पीएम मोदी ने कहा कि हिट एंड रन की राजनीति चल रही है। कीचड़ उछालो और भागो, मगर आप जितना कीचड़ उछालोगे, कमल उतना ही खिलेगा।

पीएम ने कहा कि भ्रष्टाचार के कारण जमानत पर जीने वाले लोग नहीं बचेंगे। पहली बार देश में चार-चार पूर्व सीएम को न्यायपालिका ने दोषी बनाया और वो अब जेल में हैं।

पीएम मोदी ने जीएसटी का जिक्र करते हुए कहा कि बेवजह इस पर हंगामा खड़ा किया जा रहा है। उन्‍होंने कहा कि पूरी दुनिया में सबसे कम एंट्री लेवल इनकम टैक्स ढाई लाख रुपये भारत में है।

कुल मिलाकर पीएम ने कांग्रेस पर भारत मां के टुकड़े करने का आरोप लगाया तो वहीं लोकतंत्र का पाठ पढ़ाने वालों को इसका असली मतलब भी समझाया। कभी शायरी तो कभी तंज अंदाज में पीएम मोदी ने विपक्ष के हर आरोपों का जवाब देकर बेदम कर दिया। पीएम ने कांग्रेस को बता दिया कि उसकी छोटी सोच के कारण ही वो आज विपक्ष में बैठने को मजबूर है। साथ ही पीएम अपनी सरकार की उलबल्धियों के जरिए बताया कि कैसे देश विकास के पथ पर आगे बढ रहा है ।

लोकसभा के बाद राज्यसभा में भी पीएम मोदी अपने ही अंदाज में नजर आये कभी विपक्ष पर चुटीले लहजे में कटाक्ष किया तो कभी विपक्ष को मुद्दा विहीन बताया पीएम मोदी ने देश में सभी चुनाव एक साथ कराने के लिये सभी से सार्थक बहस की अपील भी की।