पीएम मोदी का आज एकदिवसीय जम्मू-कश्मीर दौरा

शेयर करें:

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज जम्मू-कश्मीर के एक दिन के दौरे पर जाएंगे। पीएम लेह मे जोजिला टनल निर्माण का शिलान्यास करेंगे। दोपहर को प्रधानमंत्री श्रीनगर पहुंचेंगे और किशनगंगा जल विद्युत परियोजना राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

बाद में प्रधानमंत्री जम्मू विश्वविद्यालय से जम्मू और श्रीनगर में रिंग रोड का शिलान्यास करेंगे। साथ ही पीएम मोदी जनरल जोरावर सिंह ऑडिटोरियम से 1000 हज़ार मेगावॉट की पकलडुल पनबिजली परियोजना का शिलान्यास भी करेंगे।  प्रधानमंत्री अपने पहले कार्यक्रम के लिए दिल्ली से सीधे लेह पहुंचेंगे। वहां जोजिला टनल निर्माण का शिलान्यास करेंगे। उसके बाद लद्दाख के धार्मिक नेता कुशाक बकूला की एक सौंवी जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करेंगे।

जोजिला टनल की लंबाई 14.20 किलोमीटर होगी। श्रीनगर के उत्तर-पूर्व स्थित यह टनल ईपीसी मोड में बनाई जाएगी। इसकी लागत 6808.69 करोड़ होगी। सामरिक दृष्टि से इसका काफी महत्व है। गौरतलब है कि सर्दियों में लेह-लद्दाख करगिल सहित बर्फबारी की वजह से पूरी तरह से देश से अलग-थलग पड़ जाता है।

दोपहर को प्रधानमंत्री श्रीनगर पहुंचेंगे और किशनगंगा जल विद्युत परियोजना राष्ट्र को समर्पित करेंगे। 330 मेगावाट क्षमता की इस परियोजना की निर्माण लागत तकरीबन 5200 करोड़ रू. की है। इसके लिए किशनगंगा नदी पर बने डैम से 24 किलोमीटर की सुरंग का निर्माण भी किया गया है।

इसके बाद प्रधानमंत्री जम्मू रिंग रोड का शिलान्यास जम्मू विश्वविद्यालय से करेंगे। इसकी लंबाई 58 किमी से ज़्यादा की होगी। चार लेन चौड़ी रिंग रोड पर 6 फ्लाईओवर, 8 बड़े पुल, 2 टनल व 14 किमी से अधिक लंबी सर्विस लेन होगी। रिंग रोड बन जाने से व्यवसायिक वाहन शहर के भीतर नहीं जाएंगे और जाम से लोगों को निजात मिलेगी।

साथ ही वे वैष्णोदेवी मंदिर के लिए ताराकोटे मार्ग का उद्घाटन करेंगे। यह वैकल्पिक मार्ग सात किलोमीटर लंबा होगा। साथ ही प्रधानमंत्री वैष्णों देवी के लिए सियार दाबरी से बनें रोपवे का भी उद्घाटन करेंगे। विश्विद्यालय परिसर के जनरल जोरावर सिंह ऑडिटोरियम से ही 1000 हज़ार मेगावॉट की पकलडुल पनबिजली परियोजना का शिलान्यास भी करेंगे।

किश्तवाड़ ज़िले में चिनाब के नदी में बनने वाली ये परियोजना 66 महीनों में पूरी होगी और इसकी लागत तकरीबन 8 हज़ार करोड़ से ज़्यादा की होगी। प्रधानमंत्री शेर-ए-कश्मीर कृषि, विज्ञान और तकनीक विश्वविद्यालय के छठे दीक्षांत समारोह में भाग लेंगे।