पीएम मोदी के संबोधन में कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते सोशल मीडिया पर लॉक डाउन की खबरें सिर्फ अफवाह

शेयर करें:

नई दिल्‍ली: पीएम मोदी के संबोधन से पहले कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते सोशल मीडिया पर लॉक डाउन की खबरें चल रही हैं. कहा जा रहा है कि पीएम मोदी लॉक डाउन का ऐलान कर सकते हैं. लेकिन एक बड़े मीडिया समूह के सूत्रों के मुताबिक ये कोरी अफवाह है. इस तरह के ऐलान की कोई संभावना नहीं है.

कोरोना के कहर (Corona Virus) के चलते दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 19 मार्च को रात आठ बजे देश को संबोधित करने जा रहे हैं. इसके साथ ही कयास लगाए जा रहे हैं कि पीएम मोदी क्‍या कुछ ऐसा खास ऐलान कर सकते हैं? क्‍या संदेश दे सकते हैं? दरअसल इस वक्‍त देश कोरोना के स्‍टेज-2 से गुजर रहा है. पहला स्‍टेज वो होता है जहां से वायरस का संक्रमण शुरू होता है. दूसरे स्‍टेज में वहां से संक्रमित व्‍यक्ति अपने घर/देश में आता है. तीसरे स्‍टेज में स्‍थानीय स्‍तर पर एक से दूसरे में इसका प्रसार होता है और चौथे स्‍टेज में यह महामारी का रूप अख्तियार कर लेता है. इटली और चीन जैसे मुल्‍क चौथे स्‍टेज में हैं.

भारत अभी दूसरे स्‍टेज में है. इस लिहाज से ही सोशल मीडिया पर कयास लगाए जा रहे हैं कि इसको स्‍टेज-3 में जाने से रोकने के लिए पीएम मोदी कुछ बड़े ऐलान की घोषणा कर सकते हैं. उस स्थिति में कहा जा रहा है कि कहीं ऐसा ना हो कि उत्‍तरी इटली, फ्रांस की तरह पूरी तरह से गतिविधियों को धीमा करते हुए सबको घरों में रहने की सलाह दी जाए. ऑफिस के कामकाज को पूरी तरह से वर्क फ्रॉम होम में तब्‍दील कर दिया जाए. लेकिन इस तरह के अफवाहों पर ध्‍यान देने की बिल्‍कुल जरूरत नहीं है.

उल्‍लेखनीय है कि प्रधानमंत्री मोदी तेजी से बदले ताजा घटनाक्रम और इससे निपटने के लिए सरकार की ओर से उठाए जा रहे कदमों की जानकारी दे सकते हैं. कोरोना वायरस के संक्रमण के मामलों में लगातार वृद्धि देखने को मिल रही है. प्रधानमंत्री ने इससे पहले बुधवार को एक उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की, जिसमें कोरोना वायरस से निपटने और इस बाबत तैयारियों को और मजबूत करने के तरीकों पर चर्चा की गई. इसमें जांच की सुविधा का विस्तार करने को लेकर भी बात की गई.

गौरतलब है कि कोविड-19 के बढ़ते मामलों की रोकथाम के लिए युद्धस्तर पर तैयारियां की जा रही हैं. केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय हर रोज इसकी समीक्षा कर रहा है. इस बीच प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना वायरस के खतरे से लड़ने के लिए तंत्र को और चाक-चौबंद करने में व्यक्तियों, स्थानीय समुदायों और संगठनों की सक्रिय सहभागिता पर जोर दिया. उन्होंने अधिकारियों और तकनीकी विशेषज्ञों से अगले कदम को लेकर विचार करने का भी आग्रह किया है. प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना वायरस का मुकाबला करने में जुटी राज्य सरकारों, मेडिकल व पैरामेडिकल स्टाफ, सेना व अर्धसैनिक बलों के साथ ही अन्य सभी का शुक्रिया अदा किया है.