पीएम मोदी ने उदयपुर में बने प्रताप गौरव केंद्र का किया दौरा

शेयर करें:

उदयपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान के महान सूरवीर राणा प्रताप को नमन किया और अपनी श्रद्धांजलि दी। प्रधानमंत्री इसके लिए खासतौर से उदयपुर के प्रताप गौरव केंद्र पहुंचे, जहां महाराणा प्रताप के साथ-साथ उदयपुर के गौरवशाली इतिहास को संजोकर रखा गया है।

मेवाड़ की धरती से समूचे राजस्थान को हजारों करोड़ की परियोजनाओं का तोहफा देने के बाद पीएम ने राजस्थान के वीर सपूत महाराणा प्रताप को भी नमन किया। प्रधानमंत्री उदयपुर में बने प्रताप गौरव केंद्र को देखने पहुंचे। यह केंद्र विभिन्न प्रदर्शनियों के माध्यम से मेवाड़ के पूर्व साम्राज्य के प्रसिद्ध राजा महाराणा प्रताप के जीवन, वीरता और उपलब्धियों के बारे में जानकारियां देता है। प्रताप गौरव केंद्र में मेवाड़ के ऐतिहासिक इतिहास को आकृतियों और प्रतिमाओं के जरिए संजोया गया है। लगभग 20 एकड़ में फैली इस जगह का चप्पा-चप्पा मेवाड़ के गौरवमयी इतिहास की गाथा कहता है।

प्रताप गौरव केंद्र में मेवाड़ और राजस्थान के शूरवीर महाराणा प्रताप से जुड़ी करीब 60 पेंटिग्स और कलाकृतियां मौज़ूद है। अरावली के बेहद खूबसूरत पहाड़ों के बीच स्थित महाराणा प्रताप गौरव केंद्र में मेवाड़ के शूरवीर योद्धा महाराणा प्रताप की 57 फीट उंची प्रतिमा मौज़ूर है जो यहां की सबसे ज्यादा शान बढ़ाती है। साथ ही यहां भारत माता का मंदिर और अखंड भारत का नक्शा भी लगाया गया है। पीएम मोदी के गौरव केंद्र पहुंचने के बाद पीएम भी इस मूर्ति को देखकर काफी अभिभूत हो गए।

पिछले साल ‘झीलों की नगरी’ उदयपुर में प्रताप गौरव केंद्र का उद्घाटन किया गया था। आरएसएस के लोगों के द्वारा एक समिति इसका संचालन करती है। 100 करोड़ रुपये के इस प्रोजेक्ट में अब तक 40 करोड़ रुपये खर्च हो चुके हैं।
मेवाड़ दीर्घा में मेवाड़ के 29 महापुरुषों की मूर्तियां लगाई गई हैं। प्रमुख रूप से बप्पा रावल, महाराणा कुंभा, महाराणा सांगा, महारानी पद्मिनी, मीराबाई, पन्नाधाय, उदयसिंह, भीलू राणा पूंजा, भामाशाह, महाराणा प्रताप आदि शामिल हैं। केंद्र के एक हिस्से में लाइट एंड साउंड शो दिखाने की भी व्यवस्था है। देशभक्ति का भाव जगाने के लिए डॉक्यूमेंट्री भी तैयार की गई है।