पीएम मोदी ने प्रयागराज में बाटें दिव्यांगों को व्हील चेयर

शेयर करें:

प्रयागराज : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रयागराज के एक विशाल शिविर में 26,526 दिव्यांगों एवं वरिष्ठ नागरिकों को व्हील चेयर और अन्य उपकरण वितरित किया | लाभार्थियों की संख्या के लिहाज से यह अब तक का सबसे बड़ा वितरण शिविर है | जिला दिव्यांग जन सशक्तिकरण विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि लाभार्थियों की संख्या के लिहाज से शिविर में एक रिकॉर्ड बनेगा जो गिनीज बुक में दर्ज किया जायेगा |

इससे पहले राजकोट में एक शिविर में 18000 दिव्यांगों को उपकरण बांटे गए थे जबकि प्रयागराज में कुल 26,526 लोगों को उपकरण बांटे गए | उन्होंने बताया कि इन लाभार्थियों में 16,456 वरिष्ठ नागरिक हैं जिन्हें वयोश्री योजना के तहत उपकरण प्रदान किए गए |इस शिविर में 19 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के 56,000 से अधिक उपकरण वितरित किए गए |

इसके बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र शनिवार को ही उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जिले में बुंदेलखण्ड एक्सप्रेस-वे और पेयजल योजनाओं का शिलान्यास करेंगे | चित्रकूट के जिला विकास अधिकारी (डीडीओ) आर.के. त्रिपाठी ने बताया कि प्रधानमंत्री जिले के गोंडा गांव से 14,716.26 करोड़ रुपये की लागत से बनने जा रहे 296.07 किलोमीटर लम्बे बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास शनिवार की अपराह्र करेंगे |

इस मौके पर राज्यपाल आनन्दी बेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहेंगे | त्रिपाठी ने बताया कि जारी प्रोटोकाल के मुताबिक, प्रधानमंत्री प्रयागराज से हेलीकॉप्टर के जरिये चित्रकूट के गोंडा गांव अपराह्र एक बजे पहुंचेंगे और बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के निर्माण स्थल पर आधा घण्टे पूजा-अर्चना कर डेढ़ बजे शिलान्यास करने के बाद जनसभा को संबोधित करेंगे |

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री उसके बाद विभिन्न मदों के लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र एवं चेक वितरण के बाद अपराह्न करीब ढाई बजे प्रयागराज के लिए उड़ान भरेंगे और वहां से विशेष विमान से दिल्ली रवाना हो जाएंगे | बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे चित्रकूट जिले के भरतकूप क्षेत्र से शुरू होकर बांदा, महोबा, हमीरपुर, जालौन, औरैया होकर इटावा में कुदरैल गांव के पास आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे से जुड़ेगा | इस चार से छह लेन वाले एक्सप्रेस-वे की लंबाई 296.07 किलोमीटर है और इसकी अनुमानित लागत 14,716.26 करोड़ रुपये है |