पीएम मोदी ने युगांडा में भारतीय समुदाय को किया संबोधित

शेयर करें:

तीन अफ्रीकी देशों की यात्रा के दूसरे चरण में युगांडा पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को एक कार्यक्रम में भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित किया. प्रधानमंत्री मोदी ने कार्यक्रम में सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा का अनावरण भी किया.

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन की शुरुआत भारत-युगांडा के संबंधों से की. उन्होंने कहा कि युगांडा से भारत का रिश्ता आज का नहीं है, बल्कि शताब्दियों का है. उन्होंने कहा कि हमारे बीच श्रम का रिश्ता है, शोषण के खिलाफ संघर्ष का रिश्ता है. युगांडा विकास के जिस मुकाम पर आज खड़ा है, उसकी बुनियाद मजबूत कर रहे युगांडावासियों के खून-पसीने में भारतीयों का भी बहुत बड़ा योगदान है. युगांडा समेत अफ्रीका के तमाम देश भारत के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं. एक कारण तो आप जैसे भारतीयों की यहां बड़ी संख्या में मौजूदगी है. दूसरा हम सभी ने गुलामी के खिलाफ साझी लड़ाई लड़ी है. तीसरा हम सभी के सामने विकास की एक समान चुनौतियां हैं.

प्रधानमंत्री ने मेक इन इंडिया का ज़िक्र करते हुए कहा कि भारत में बनी कार और स्मार्ट फोन समेत अनेक चीजें आज उन देशों को बेच रहे हैं, जहां से कभी हम ये सामान आयात करते थे. संभव है कि बहुत जल्द यहां युगांडा में जब स्मार्टफोन खरीदने आप जाएंगे तो आपको मेड इन इंडिया का लेवल नज़र आएगा.

अफ्रीका के सामाजिक विकास और संघर्ष में तो हमारा सहयोग रहा ही है, यहां की अर्थव्यवस्था के विकास में भी हम सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित कर रहे हैं. यही कारण है कि पिछले वर्ष अफ्रीकन डेवेलपमेंट बैंक की वार्षिक बैठक भी भारत में आयोजित की गई.

प्रधानमंत्री ने कहा कि इंटरनेशनल सोलर अलायंस का सदस्य बनने के लिए मैंने अफ्रीका के सभी देशों को आग्रह किया था, और मेरे आह्वान के बाद आज सदस्य देशों में लगभग आधे देश अफ्रीका के हैं. अंतर्राष्ट्रीय मंच पर भी अफ्रीका के देशों से एक स्वर में भारत का समर्थन किया है.