UP : त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में पथराव व फायरिंग के बीच हुआ 73.5 फीसदी मतदानए, कई जिलों में हिंसक घटनाएं, तीन की मौत

शेयर करें:

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में चल रहे त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का तीसरा चरण सोमवार यानी 26 अप्रैल 2021 को पूरा हो गया. प्रदेश में कुछ बवाल भी तो बहुत ही जगहों पर शांतिपूर्ण तरीके से मतदान भी संपन्न हुआ. अप्रैल की गर्मी भी मतदाताओं ने घरों से बाहर निकलकर गांव की सरकार बनाने के लिए जमकर वोट डाले. राज्य निर्वाचन आयोग के आंकड़ों के मुताबिक कुल 73.5 प्रतिशत लोगों ने मताधिकार का प्रयोग किया.

हालांकि अभी बहुत से मतदान केंद्रों से मतदान का सही से प्रतिशत पता नहीं चल पाया है. इसकी स्थित मंगलवार दोपहर बाद ही पता चल सकेगी. सोमवार की शाम छह बजे उन तमात उम्मीदवारों की किस्मत बैलट बॉक्स में बंद हो गई जो खुद को जिला पंचायत अध्यक्ष, प्रधान, बीडीसी के लिए खड़े थे.

यूपी में त्रिस्तरीय पंचायत में तीसरे चरण का मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ जो शाम छह बजे समाप्त हुआ. सोमवार सुबह से ही मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की कतार लगने लगी थी. सुबह 7 से 9 बजे तक मतदान की गति तेजी से चली.

12 बजे के बाद जैसे-जैसे सूरज चढ़ने लगा वैसे-वैसे बूथों से लाइनें कम होने लगीं. शाम छह बजते ही मतपेटिकाओं को सील कर दिया.देर रात तक पेटियां जमा की गईं. पेटियों की सुरक्षा के लिए बड़ी संख्या में पुलिस को तैनात किया गया.

इससे पहले तीसरे चरण में 20 जिलों में मतदाता गांव की सरकार चुनेने के लिए घरों से बाहर निकले. शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए व्यवस्था चाक चौबंद की गई है. लेकिन कई जिलों में जमकर बवाल की खबरें भी आईं. फिरोजाबाद, कासगंज और मैनपुरी में कई बार बवाल भी हुआ.

फिरोजाबाद के खैरगढ़ थाना क्षेत्र के बरौली में फर्जी मतदान का आरोप लगाकर प्रधान पद के प्रत्याशी बिक्की सिंह ने मतपेटिका को तालाब में फेंक दिया हालांकि बाद में पुलिस ने बरामद कर लिया. वहीं फिरोजाबाद के ही जसराना थाना क्षेत्र में पोलिंग बूथ पर मारपीट की घटना हुई.

कासगंज और जालौन में दो व्यक्तियों की हत्या कर दी गई जबकि उन्नाव में एक व्यक्ति को गोली मारकर घायल कर दिया गया. वहींए फिरोजाबाद और मुरादाबाद में पथराव व फायरिंग हुई. फिरोजाबाद में हुई घटना में होमगार्ड समेत 4 लोग जख्मी हुए. इस मतदान केंद्र से मतपेटिका भी लूटने की कोशिश की गई.

कासगंज जिले के पटियाली क्षेत्र में चुनावी रंजिश मेंआमोद यादव और जालौन के गौहान थाना क्षेत्र में शरद मिश्रा की चुनावी रंजिश में हत्या कर दी गई. पीलीभीत के न्यूरिया में में एक मतदान केंद्र पर जमा उपद्रवी भीड़ पर काबू पाने के लिए पुलिस ने बल प्रयोग किया. इस दौरान मीही लाल जाटव नाम के एक व्यक्ति की मौत की खबर है. वहीं उन्नाव के माखी में पोलिंग बूथ पर अशुंल यादव द्वारा की गई फायरिंग से सुमंत सिंह को गोली लग गई हालांकि अब सुमंत खतरे से बाहर है.

वहीं अमेठी के मुंशीगंज थाना क्षेत्र में लंच बांटने आई गाड़ी पर ग्रामीणों ने पथराव कर दिया. घटना के बाद मौके पर पहुंचे चैकी इंचार्ज सागड़ की बोलेरो पर भी ग्रामीणों ने पथराव कर दिया.बलिया के गढ़वार में दो पक्षों के बीच मारपीट की खबर है. इसी तरह बलरामपुर के उतरौलाए मिर्जापुर के विंध्यांचल और फिरोजाबाद के

ड्यूटी के दौरान सिपाही की मौत
हमीरपुर के मजगवां थाना क्षेत्र में चित्रकूट में तैनात सिपाही अरविंद कुमार दीक्षित की ड्यूटी के दौरान मौत हो गई. अरविंद को सांस लेने में शिकायत के बाद महोबा जिले के एक अस्पताल में ले जाया गया थाए जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.