कीचड़ और गंदगी के बीच जबलपुर लटकारी के पड़ाव सब्जी मंडी में लोग कर रहे खरीदी, बीमारी फैलने का है डर

शेयर करें:

जबलपुर। शहर के बीचो बीच संचालित वर्षों पुरानी निवाड़गंज स्थित लटकारी के पड़ाव सब्जी मंडी की हालत इन दिनों खराब है। बारिश होने के साथी मंडी में गंदगी और कीचड हो जाने से सब्जी की खरीदी करने के लिए पहुंचने वाले ग्राहकों को समस्या आ रही है। सब्जी मंडी को देखने से ऐसा लगता है कि जैसे नगर निगम ने शहर का कूड़ा यहां एकत्र करने के लिए कोई सेंटर बनाया हुआ है।

निवाड़गंज स्थित लटकारी के पड़ाव सब्जी मंडी में गंदगी के अंबार से लोगों का राह चलना मुश्किल हो गया है। बदबू से लोग सब्जी मंडी में जाने से कतराने लगे हैं। सब्जी मंडी परिसर में व्याप्त गंदगी के बीच लोग रोजमर्रा की चीजें खरीदने को विवश हैं। वहीं आवारा पशु भी खुले में घूम रहे है।

सब्जी मंडी में फैली गंदगी के कारण कई तरह के रोगों के फैलने की संभावना बनी रहती है। हालात ऐसे हैं कि बिना बारिश के कारण मंडी में कीचड़ जमा रहता है, जिसके चलते लोगों को आने जाने में परेशानियों का सामना तो करना ही पड़ा साथ ही कीचड़ के कारण मंडी में फिसलन भी बनी रहती है।

सब्जी विक्रेता सड़ते हुए गंदे पानी से फैली गंदगी के पास बैठकर खाद्य सामान सब्जियां बेचने पर मजबूर है। नगर निगम इस मामले में मूक दर्शक बने हुए हैं। जबकि यहां पर बीमारी फैलने का अंदेशा भी बना हुआ है। चारों तरफ गंदगी फैली है, मंडी से निकले कूड़े को आसपास खाली जगहों पर ही डाल देते हैं। यहां हर समय पशु घूमते रहते हैं। बारिश होते ही कूड़े के कारण चारों तरफ बदबू फैल जाती है।

ग्राहक भले ही हरी और तरोताजा सब्जी का स्वाद लेने की मंशा रख रहे हो लेकिन गंदगी के चलते उनकी इस मंशा पर पानी फिर रहा है। देखने में हरी भरी यह सब्जी तो मंडी में मौजूद है लेकिन गंदगी में तैयार होने वाले मक्खी- मच्छर आदि से सब्जी दूषित हो रही है और इसका असर सीधे मानव जीवन पर पडेगा। सब्जियों को दूषित होने से बचाने के लिए सावधान रहने की जरूरत है।