संसद में बजट सत्र का नौवां दिन भी रहा हंगामेदार

शेयर करें:

कांग्रेस समेत कई दलों के हंगामे के कारण संसद के दोनों सदनों में कल हंगामा देखने को मिला और बार बार स्थगन के बाद सदन की कार्रवाई शुक्रवार तक के लिए स्थगित कर दी गयी। बजट सत्र के दूसरे चरण में लगातार नौवें दिन भी हंगामा जारी रहा। कांग्रेस समेत कई दलों के हंगामे के कारण संसद के दोनों सदनों में कल हंगामा देखने को मिला और बार बार स्थगन के बाद सदन की कार्रवाई शुक्रवार तक के लिए स्थगित कर दी गयी।

विपक्ष के हंगामे के बीच सरकार ने लगातार कहा है कि वह किसी भी मुद्दे पर चर्चा कराने के लिए तैयार है, बावजूद इसके विपक्ष के रवैये में कोई बदलाव नहीं देखने को मिला। हांलाकि लोकसभा ने कल विपक्ष के शोरगुल के बीच ग्रेच्युटी भुगतान संशोधन विधेयक, 2017 बिना चर्चा के पारित कर दिया। बजट सत्र के दूसरे चरण में लगातार नौवें दिन हंगामा जारी है । कांग्रेस समेत कई दलों के हंगामे के कारण संसद के दोनों सदनों में हंगामा होता रहा और बार बार स्थगन के बाद सदन की कार्रवाई शुक्रवार तक के लिए स्थगित कर दी गयी ।

सबसे पहले बात की लोकसभा की । जैसे ही सदन की बैठक शुरू हुई कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्षी सदस्य नारे लगाते हुए सदन के बीचो-बीच आ गए। ये तमाम दल अपनी मांगों के समर्थन में नारे लगा रहे थे । हंगामे के चलते लोकसभा अध्यक्ष ने कार्रवाई एक घंटे के लिए स्थगित कर दी । सरकार ने सदन के बाहर और भीतर हर जगह विपक्ष से सहयोग मांगा और सदन की कार्यवाही चलाने की मांग की लेकिन विपक्ष सुनने को तैयार नहीं था ।

हालांकि हंगामे के बीच ही लोकसभा ने ग्रेच्युटी भुगतान संशोधन विधेयक, 2017 बिना चर्चा के पारित कर दिया। यह विधेयक केन्द्र सरकार के कर्मियों के लिए ग्रेच्युटी की मौजूदा सीमा दस लाख रुपये से बढ़ाकर 20 लाख रुपये करने के बारे में है। सदन ने विशेष राहत संशोधन विधेयक भी पारित कर दिया।

उधर राज्यसभा में भी हंगामा जारी रहा और सदन में नौवें दिन भी शून्यकाल और प्रश्नकाल नहीं हो सके। । जैसे ही सदन की बैठक शुरू हुई टीडीपी नेता वाई एस चौधरी के अनुरोध पर सभापति एम. वेंकैया नायडू ने उन्हें मंत्रिपरिषद से अपने इस्तीफे के कारणों को स्पष्ट करने की अनमति दी । उनके बयान के बीच ही हंगामा मच गया जिस पर सभापति ने कार्यवाही दो बजे तक स्थगित कर दी।

दो बजे भी हंगामा जारी रहा और सदन तीन बजे तक के लिए स्थगित हुआ । तीन बजे फिर हंगामा जारी रहा और कार्यवाही शुक्रवार तक के लिए स्थगित करनी पडी । संसद में बजट सत्र के दूसरे चरण में विपक्ष लगातार हंगामा कर रहा है। इसी का नतीजा है कि संसद की कार्यवाही बाधित हो रही है और जरुरी बिल अटके हैं । हंगामे के बीच ही बुधवार को सरकार से वित्त और विनियोग विधेयक पारित कराया ।