प्रयागराज : ट्रेन में खराब खाना परोसते पेंट्रीकार के वेंडर भी किसी महामारी से कम नही

शेयर करें:

प्रयागराज।आज विश्व समुदाय करोना जैसी महामारी से जूझ रहा है लेकिन ट्रेन में खराब खाना परोसेने वाले पेंट्रीकार के वेंडर भी किसी महामारी से कम नही यात्रियों को खराब खाना परोसते इनके घटिया खाने का लोग शिकार होते रह्ते है ऐसा ही एक मामला के भुक्त भोगी रहे हें यात्री चंदन अग्रवाल 12/ 3 /2020 को जयपुर से प्रयागराज 12404 जयपुर प्रयागराज एक्सप्रेस में कोच नंबर B4 में सफर कर रहे थे।

प्रयागराज के यात्री चंदन अग्रवाल (Facebook wall) ,अरविंद अग्रवाल ,पवन मित्तल ,रवि सक्सेना ,ने मथुरा जंक्शन के पास अपने कोच में उपस्थित रेलकर्मी से खाने पीने की व्यवस्था का बंदोबस्त करने के लिये पेंट्रीकार के वेंडर से पानी की बोतल खरीदी और खाना लिया, जोकि पानी की बोतल जो रेल यात्रा के दौरान यात्रियों को दी जानी चाहिए वे बोतलें नहीं दी गई और निर्धारित मूल्य से ज्यादा पैसा लिया जा रहा था।

 

खाने का भी वही हाल था कोच में बैठे यात्रियों ने रेलवे कंपलेन 139 पर कॉल किया पर कोई समस्या का समाधान नहीं हुआ कोच में खाद्यान्न पदार्थ बेच रहे वेंडर से पूछा गया कि आप यहां गलत समान क्यों बेच रहे हैं और इसका आप बिल दीजिए तो वह कोच में बैठे यात्रियों से लड़ाई झगड़ा व अभद्रता करने लगा और कहने लगा यह ऐसे ही होता है, आपको जो करना है करिए। जब यात्रियों ने मिलकर उन सभी कर्मियों के ऊपर ऐसा क्यों कर रहे हो इसका जवाब मांगना शुरू किया तो वह आगरा स्टेशन पर सारा सामान छोड़कर भाग निकला।

जीआरपी भी चुपचाप वहां से निकल लिये

यहां तक कि कोच के अंदर आए जीआरपी पुलिस ने भी कुछ नहीं कहा और चुपचाप वहां से निकल गया इस सारे प्रकरण में रेल विभाग के कर्मचारी अधिकारी कुछ भी सुनने और कहने को तैयार नहीं है यात्रियों के कंप्लेन करने के बाद रेलवे का खाद्यान्न के ठेकेदार का कहना है कि आप लोग अपनी कंप्लेन वापस ले लीजिए।

पेंट्रीकार जैसी महामारी का इलाज कब करेगा रेल विभाग अगर इसी तरीके होता रहा तो यात्रियों को मनचाहे ढंग से ठेकेदार लूटते रहेंगे और ट्रेन में खराब खाना परोसेते पेंट्रीकार के वेंडर न जानेे कितने यात्रियों को बिमार कर्ता रहेगा, रेल विभाग इस पर चुप्पी साधे रहेगा