किसानों के भारी विरोध को देखते हुए सरकार ने पलटा अपना फैसला, हरियाणा और पंजाब में कल से खरीदा जाएगा धान

शेयर करें:


पंजाब और हरियाणा में धान खरीद को आगे बढ़ाए जाने के बाद शुरू हुए किसानों के भारी विरोध को देखते हुए केंद्र सरकार ने अपना फैसला पलट दिया है। सरकार ने दोनों राज्यों में रविवार यानी 3 अक्टूबर से ही धान की खरीद करने के आदेश दिए हैं। सरकार के इस कदम को किसानों की बड़ी जीत माना जा रहा है। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से मुलाकात के बाद केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने इसका ऐलान किया है।

सरकार ने किया था 11 अक्टूबर से धान की खरीद करने का ऐलान
केंद्र सरकार ने धान की खरीद को 10 दिनों के लिए टालते हुए आगामी 11 अक्टूबर से इसकी खरीद करने का निर्णय किया था। सरकार का कहना था कि बारिश के कारण धान में नमी आने की संभावना है। ऐसे में उसे सुखाने के लिए खरीद की तारीख आगे बढ़ाया गया है। इसको लेकर कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों का गुस्सा और बढ़ गया और उन्होंने पंजाब और हरियाणा में जोरदार प्रदर्शन करने का निर्णय किया था।

किसानों ने बनाई थी मुख्यमंत्री और भाजपा विधायकों के घेराव की योजना
धान की खरीद में देरी से गुस्साए किसानों ने शनिवार को मुख्यमंत्री खट्टर और भाजपा विधायकों का घेराव करने की योजना बनाई थी। इसके तहत किसानों ने अंबाला, जींद, भिवानी, करनाल और पानीपत सहित कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन किया था। इसको लेकर विधायकों और मुख्यमंत्री के आवास के बाहर भारी सुरक्षा बंदोबश्त किए गए थे। विरोध प्रदर्शन के कारण कई जिलों में किसानों और पुलिस के बीच झड़पें भी देखने को मिली थी।

पुलिस ने मुख्यमंत्री आवास के बाहर किसानों पर किया वाटर कैनन का इस्तेमाल। किसानों ने मुख्यमंत्री खट्टर के आवास की ओर बढ़ने का प्रयास किया तो पुलिस और उनके बीच धक्का-मुक्की भी हुई। हजारों की संख्या में किसान नारेबाजी करते हुए और हाथों में झंडे लेकर मुख्यमंत्री के आवास के बाहर जमा हो गए। इस दौरान कई किसानों ने पुलिस द्वारा लगाई गई बेरीकेडिंग को तोड़ दिया और आवास की ओर बढ़ने लगे। इस दौरान भारी पुलिस बल ने किसानों को आगे बढ़ने से रोकने के लिए वाटर कैनन का इस्तेमाल किया।

मुख्यमंत्री खट्टर के साथ बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री चौबे ने बदला निर्णय
किसानों के विरोध को देखते हुए केंद्रीय खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री अश्विनी चौबे दोपहर में मुख्यमंत्री खट्टर से मुलाकात करते हुए मामले पर लंबी चर्चा की थी। इसमें दोनों ने तय किया कि कृषि कानूनों पर नाराज किसानों को धान की खरीद के मामले में और नाराज करना सही नहीं रहेगा। ऐसे में पंजाब और हरियाणा में रविवार से ही धान की खरीद करने का निर्णय किया। बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री चौबे ने इसकी घोषणा कर दी।

मुख्यमंत्री खट्टर ने किसानों से की प्रदर्शन खत्म करने की अपील
हरियाणा और पंजाब में रविवार से धान की खरीद किए जाने की जानकारी देते केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे और मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर। केंद्रीय मंत्री चौबे की घोषणा के बाद मुख्यमंत्री खट्टर ने भी किसानों ने प्रदर्शन खत्म करने की अपील की है। उन्होंने कहा, “मॉनसून में देरी की वजह से केंद्र सरकार ने धान और बाजरे की खरीद को 1 अक्टूबर से टालकर 11 अक्टूबर कर दिया था। इसको जल्दी शुरू करने की मांग की गई थी। अब खरीद कल से ही शुरू हो जाएगी।” उन्होंने कहा, “किसानों को चिंता करने की जरूरत नहीं है और उन्हें अपना प्रदर्शन खत्म करना चाहिए।”