बिम्सटेक आपदा प्रबंधन अभ्यास-2017 का आयोजन

शेयर करें:

बिम्सटेक ( बंगाल की खाड़ी बहुक्षेत्रीय तकनीकी और आर्थिक सहयोग उपक्रम) आपदा प्रबंधन अभ्यास के अगले चरण में आज ‘बाढ़ बचाव’ पर आधारित संयुक्त फील्ड प्रशिक्षण अभ्यास का आयोजन यमुना बैराज, वजीराबाद दिल्ली में किया गया

10 अक्टूबर से 13 अक्टूबर 2017 तक आयोजित यह अभ्यास भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एन.डी.आर.एफ.) की अगुवाई में किया जा रहा है। इस अभ्यास में बिम्सटेक समूह के सभी सात सदस्य राष्ट्रों- बंग्लादेश, भारत, म्यांमार, भूटान, नेपाल, श्रीलंका तथा थाइलैंड के प्रतिनिधियों एवं बचाव दलों ने सक्रिय भगीदारी की तथा बाढ़ बचाव से सम्बंधित अपनी क्षमताओं का संयुक्त रुप से भव्य एवं उत्कृष्ट प्रदर्शन किया।

एन.डी.आर.एफ. द्वारा यमुना बैराज, वजीराबाद के आस-पास बाढ़ आपदा का वास्तविक चित्रण गया था जिसके तहत यमुना बैराज को बाढ़ प्रभावित शहरी कॉलोनी का रूप दिया गया था। इमारतों एवं उसमें फँसे लोगों को चित्रित करने के लिए बड़ी संख्या में डमी संरचनाएं यमुना बैराज में व आस-पास बनाई गई थी। बिम्सटेक सदस्य राष्ट्रों के सभी बचाव दलों ने बाढ़ में फँसे लोगों को बाहर सुरक्षित निकालने में बाढ़ बचाव के अत्याधुनिक उपकरणों/समानों का इस्तेमाल करते हुए संयुक्त रूप से उत्कृष्ट बाढ़ बचाव कौशल का प्रदर्शन किया।

अभ्यास के दौरान बाढ़ में फँसे लोगो को बचाने के लिए बचावकर्मियों ने हेलीकॉप्टरों द्वारा भी अपने विशेष कौशल को प्रदर्षित किया जिसमें हेलीकॉप्टरों से बचाव एवं राहत सामग्री का वितरण के साथ-साथ राहत कार्य व चिकित्सा सहायता आदि को भी कुशल तरीके से प्रदर्षित किया गया। इस परिपेक्ष में एन.डी.आर.एफ. द्वारा बहु-राष्ट्र समन्वय केन्द्र (मल्टी नेशनल को-आर्डिनेशन सेन्टर) तथा बचाव दलों में घटनास्थल के नजदीक समुचित समन्वय स्थापित करने के उद्देश्य से ऑन-साइट ऑपरेशन को ऑर्डिनेशन सेंटर स्थापित किया गया था।

इसके अतिरिक्त, अभ्यास के दोरान घरेलु सामान से निर्मित किये गये विभिन्न राफटो की मदद से बाढ़ आपदा की स्थिति में बचाव के विभिन्न तरीकों का उत्कृष्ट प्रदर्शन किया गया एवं आपदा प्रभावित लोगो की मदद हेतु स्थापित मेडिकल बोट का भी कुशल चित्रण किया गया