जून 2020 तक नहीं बढ़ेगा वन-टाइम रजिस्ट्रेशन फीस, अब मार्च 2020 तक खरीद सकेंगे BS-IV कारें

शेयर करें:

ऑटो सेक्टर के लिए सरकार ने किए बड़े एलान इसके तहत मार्च 2020 तक BS-IV वाहन खरीदने, सरकारी विभागों को नई गाड़ियां खरीदने पर बैन हटाने और वाहनों पर अतिरिक्त 15 फीसदी डिप्रिसिएशन देने जैसे कुछ अहम फैसले किए गए.

वित्त मंत्री ने कहा कि BS-IV वाहनों को अब मार्च 2020 तक खरीदा जा सकेगा और यह रजिस्ट्रेशन की पूरी अवधि तक चलाए जा सकेंगे. डिमांड बढ़ाने के लिए एक बड़े फैसले के तहत सरकार ने सरकारी विभागों की तरफ से पुराने वाहनों को बदलने के नई वाहनों की खरीद पर लगाए गए बैन को हटा लिया है. इसके अलावा, सरकार जल्द स्क्रैपेज पॉलिसी भी लाएगी.

वित्त मंत्री ने बताया कि इसके अलावा इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (EVs) और इंटरनल कम्ब्युशन व्हीकल्स (ICV) का भी ​रजिस्ट्रेशन भी जारी रहेगा. उन्होंने बताया कि सरकार का फोकस निर्यात के लिए बैटरी समेत कम्पोनेंट को डेवलप करने के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर बनाने पर सरकार का फोकस रहेगा.

ऑटो सेक्टर के लिए सरकार ने एक और बड़े एलान के तहत 15 फीसदी अतिरिक्त डिप्रिसिएशन को मंजूरी दे दी. यानी अब यह 30 फीसदी हो गया. सभी वाहनों पर यह मार्च 2020 तक लागू होगा. इसके अलावा सरकार ने वन टाइम रजिस्ट्रेशन फीस में बढ़ोतरी का फैसला जून 2020 तक के लिए टाल दिया है.

बता दें, सुस्ती से जूझ रही ऑटो इंडस्ट्री ने सरकार राहत पैकेज की मांग की थी. जिसमें वाहनों पर जीएसटी घटाने जैसी डिमांड शामिल थी.पैसेंजर व्हीकल्स सेगमेंट में बिक्री को हाल के कुछ महीनों में तगड़ा लगा है. पैसेंजर्स व्हीकलस की सेल्स करीब एक साल के निचले स्तर पर आ गई है.

फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (FADA) का कहना है कि मंदी के चलते बीते तीन महीने में करीब दो लाख लोगों की नौकरियां खत्म हुई हैं. इंडस्ट्री बॉडी सिआम के आंकड़ों के अनुसार, अप्रैल-जून 2019 में सभी कैटेगरी में वाहनों की बिक्री 12.35 फीसदी गिरकर 60,85,406 रह गई, जो कि पिछले साल इसी अवधि में 69,42,742 थी.