पहली वर्षगांठ पर सीएम योगी का यूपी को सौगात, अयोध्या, मथुरा और काशी का बदलेंगे चेहरा

शेयर करें:

लखनऊः यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपनी सरकार के एक साल पूरे होने के तहत यूपी और वहां की जनता को कई सौगात देने की योजना बनाई हैं. मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने सोमवार को बीजेपी सरकार का एक साल पूरा होने पर यहां बड़ा ऐलान किया हैं. उन्होंने कहा कि प्रदेश के किसानों के लिए मिट्टी को रॉयल्टी फ्री कर दिया गया है. अब कहीं भी सिपाही और राजस्व कर्मी उनकी चेकिंग एवं वसूली आदि नहीं कर सकेंगे. ऐसा करते हुए पाए जाने पर ऐसे लोगों पर सख्त कार्रवाई की जायेगी. सीएम ने यह भी कहा कि जो ईंट भट्ठा मालिक ईंट के दाम कम करेंगे, उन्हें भी मिट्टी पर रॉयल्टी मिलेगी.

भ्रष्टाचार के खिलाफ किया पोर्टल लांच

सीएम ने भ्रष्टाचार के खिलाफ बड़े अभियान के तहत एक पोर्टल लांच किया. इसमें कोई भी व्यक्ति वीडिओ-आडियो भेज कर शिकायत कर सकता है. उसकी पहचान गुप्त रखी जायेगी. उन्होंने 64 सरकारी विभागों में खाली पड़े चार लाख पदों पर इसी साल भर्ती किये जाने की भी घोषणा की.

एक साल नई मिसाल के साथ विकास

सीएम ने कहा है कि एक साल नई मिसाल के माध्यम से विकास की शुरुआत की है और यह कम समय में किया है. भ्रष्टाचार, गुंडाराज और अराजकता की पूर्व की सरकारों का अनैतिक कार्य हमने खत्म किया है. हमारी सरकार ने लोक कल्याण संकल्प पत्र प्रस्तुत किया था, जिसके द्वारा आम जनता के हितों की योजनाओं को आम जन तक पहुंचाने का कार्य किया. यूपी में परिवारवाद, जातिवाद, मत और मजहब के आधार पर समाज को बांटने वाली विघटनकारी शक्तियां राज करती रहीं, लेकिन आज गांव, गरीब, किसान, दलित और वंचित समाज के अंतिम पंक्ति पर खड़ा हुआ व्यक्ति भी यूपी में हमारे एजेंडे का हिस्सा है.

अपराध और पाप की लंका को जलाने से नहीं हटेंगे पीछे

आदित्यनाथ ने कहा है कि किसानों की आय दोगुना करने के लिए लघु एवं सीमांत किसानों के एक लाख तक के कर्जे को माफ कर दिया गया. फसल ऋण मोचन से लेकर धान क्रय और गन्ना सहित तमाम किसानों के मुद्दों को जोड़ेंगे तो 80 हजार करोड़ रुपए तक की धनराशि किसानों के खातों में भेजने का कार्य किया है. हमारी सरकार ने समूह ग और घ की सभी भर्तियों में इंटरव्यू की व्यवस्था खत्म कर दी.

जिस प्रदेश में हर सप्ताह दो दंगे हुआ करते थे, अब उसी प्रदेश में विकास और कानून व्यवस्था का राज कायम हो रहा है. इसलिए बंदरों से बहुत डर लगता है तो मैं यह कहना चाहूंगा कि यह बंदर अपराध और पाप की लंका को जलाने में कहीं से पीछे नहीं रहेगा. हमारी सरकार ने 11 लाख आवास गरीबों को उपलब्ध कराने की व्यवस्था की है. 33 हजार करोड़ रुपए की मेट्रो परियोजनाओं की सरकार शुरुआत करने जा रही है.

पर्यटन को दिया जायेगा बढ़ावा

अपनी सरकार के एक साल पूरे होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पास गिनाने को बहुत कुछ है, लेकिन उप चुनाव की हार का कसक भी. लेकिन, योगी उप चुनाव के परिणाम को बहुत महत्व न देते हुए अपनी उपलब्धियों पर ही फोकस करते हैं. कहते हैं, उत्तर प्रदेश में सांस्कृतिक धरोहरों के रूप में बड़ी संभावनाएं हैं. अयोध्या, मथुरा और काशी को ही यदि पर्यटन के नजरिए से बढ़ाया जाए तो यह पूरे प्रदेश को बदल देंगी.

मुंबई और बैंगलुरु जैसे शहरों से यह आगे निकल जाएंगी. सीएम ने कहा है कि सरकार की यह बड़ी उपलब्धि है कि वह उत्तर प्रदेश के प्रति धारणा बदलने में सफल हुई है. जंगलराज, अराजकता और गुंडागर्दी की पहचान खत्म हुई है. उद्यमियों के लिए माहौल बना है. वह दावा करते हैं कि सरकार में टॉप स्तर पर भ्रष्टाचार रुका है, जिसका संदेश नीचे तक जाएगा और वहां भी भ्रष्टाचार खत्म होगा.

यूपी की सरकार ने किसानों को विकास के केंद्र में रखा

योगी ने सदन में कहे गए अपने इस वाक्य पर कि ‘मैं हिंदू हूं, ईद नहीं मनात को अपनी व्यक्तिगत पहचान से जोड़ते हैं और कहते हैं कि मैं आडंबर नहीं कर सकता. मैं हर धर्म को उसके पर्व व त्योहार मनाने के लिए सुरक्षा-संरक्षा तो दे सकता हूं, लेकिन घर में टीका लगाने के बाद बाहर टोपी नहीं पहन सकता. यह मेरी आस्था का प्रश्न है. मेरा मानना है कि सेक्युलरिज्म सर्व धर्म समभाव का प्रतीक है और हिंदू से अधिक सेक्युलर कोई नहीं. गोरखपुर और फूलपुर के उप चुनाव को योगी सबक तो मानते हैं, लेकिन साथ ही यह भी कहते हैं कि यह जनादेश नहीं है.

स्वीकार करते हैं कि कार्यकर्ता अति आत्मविश्वास में गफलत खा गए. वह सपा-बसपा के गठबंधन को भी चुनौती नहीं मानते और कहते हैं कि कोई दल अपने शत-प्रतिशत मतों का ट्रांसफर नहीं कर सकता. फिर अभी तो उनका नेता भी तय नहीं है. एक साल के कामकाज की उपलब्धियों को गिनाते हुए योगी कहते हैं कि यूपी की सरकार ने किसानों को विकास के केंद्र में रखा है. उनके लिए कई योजनाएं शुरू की गईं. इसके साथ ही यूपी बोर्ड की परीक्षाओं में नकल माफिया के तंत्र को तोड़ना भी वह सरकार की सफलता में जोड़ते हैं. योगी इस बात से आश्वस्त हैं कि सरकार ने एक साल में ही विकास के लिए जरूरी आधार खड़ा कर दिया है.

बीजेपी सरकार में प्रदेश माफिया मुक्त

वहीं बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय ने कहा है कि पिछले एक वर्ष में प्रदेश की बीजेपी सरकार ने थानों को सपा के माफिया और गुंडों से मुक्त कराकर आम आदमी की सुरक्षा के लिए कदम बढ़ाया. पुलिस को अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई की खुली छूट दी और इतने कम समय में ही पूरे प्रदेश में सुरक्षा इस कदर चाक-चौबंद हो गई कि अपराधी अपनी जमानत निरस्त कराकर जेल में सड़ना ज्यादा बेहतर मान रहे हैं.

सरकार के एक वर्ष पूरा करने पर बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार जनता के लिए सुशासन, विकास व सुरक्षा का पथ सुनिश्चित करने वाली है. इस सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धि सपा-बसपा के 10 वर्ष की प्रशासनिक अराजकता, भ्रष्टाचार व असुरक्षित माहौल को दूर कर प्रदेश के विकास का रोडमैप तैयार कर इसे तेजी से लागू करने की है. एक साल में विकास का पहिया तेजी से चलने लगा है.

जनता को हो रहा है महसूस

डॉ. पांडेय ने कहा कि योगी सरकार पहले दिन से किसानों, नौजवानों, महिलाओं और गांवों को ध्यान में रखकर मिशन मोड में काम कर रही है. योगी सरकार ने एक साल में प्रदेश की अर्थव्यवस्था, विकास, रोजगार, 24 घंटे बिजली, पानी, सड़क, सुरक्षा और प्रदेश के पिछड़े क्षेत्रों में अवस्थापना निर्माण की दिशा में जो उपलब्धियां हासिल की हैं, वह प्रदेश की जनता को महसूस हो रहा है.