परमाणु हथियार मुक्त होगा कोरिया प्रायद्वीप

शेयर करें:

दशकों पुरानी दुश्मनी के बाद उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के राष्ट्राध्यक्षों ने शुक्रवार को ऐतिहासिक मुलाकात की. यकीनन यह मुलाकात लंबे समय तक याद रखी जाएगी, क्योंकि उत्तर कोरिया के किम जोंग उन ऐसे पहले नेता हैं, जिन्होंने 1950-53 के कोरियन युद्ध के बाद दक्षिण कोरिया की धरती पर कदम रखा है.

दोनों देशों में सात दशकों से चल रहे युद्ध को खत्म करने और कोरिया प्रायद्वीप को परमाणु अस्त्रों से मुक्त करने पर सहमति बनी. दोनों नेताओं ने घोषणा की कि औपचारिक रूप से युद्ध खत्म करने के लिए योजना बनेगी और 1953 की संधि को भी नए घोषणा-पत्र से बदला जाएगा.

दोपहर की बातचीत से पहले दोनों नेताओं ने उत्तर और दक्षिण कोरिया की सीमा को जोड़ने वाले ऐतिहासिक फुटब्रिज पर चहलकदमी और बातचीत की, जो एक ऐतिहासिक क्षण बन गया. दोनों नेताओं ने एक ऐतिहासिक समारोह में भी हिस्सा लिया, जिसमें दोनों देशों की मिट्टी और पानी का उपयोग कर एक चीड़ का पेड़ लगाया गया. इस पेड़ के पास एक पट्टिका भी लगाई गई है, जिसमें दोनों नेताओं के नाम के साथ लिखा है “शांति और समृद्धि का रोपण”

इस बातचीत का अमेरिका ने स्वागत किया है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट किया कि, साल भर परमाणु परीक्षण और मिसाइल प्रक्षेपण के बाद अब दक्षिण और उत्तर कोरिया में बातचीत हो रही है, ये अच्छा है पर परिणाम केवल समय बताएगा. वहीं जापान और चीन ने भी इस बातचीत का स्वागत किया है.