विभागीय कार्यों में लापरवाही बरतने पर सहायक आयुक्त को नोटिस

शेयर करें:

डिंडोरी @ कलेक्टर अमित तोमर ने प्रशांत आर्या सहायक आयुक्त जनजातीय कार्य विभाग को कारण बताओं नोटिस जारी किया है। सहायक आयुक्त को उक्त नोटिस बिना किसी सूचना अथवा अवकाश स्वीकृत कराये बिना अनुपस्थित रहने और विभागीय कार्यों की प्रगति संतोशजनक नहीं होने पर दिया गया है। समीक्षा के दौरान सहायक आयुक्त द्वारा सीएम हेल्पलाईन, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के प्रकरणों की स्थिति संतोशजनक नहीं पाई गई है। इससे यह स्पष्ट होता है कि सहायक आयुक्त के द्वारा कार्यालीन कार्यों में लापरवाही बरती जा रही है। उनका यह कृत्य मध्यप्रदेश सिविल सेवा आचरण नियमों का उल्लंघन करता है।

कलेक्टर ने सहायक आयुक्त को समाधान कारक उत्तर तीन दिवस में प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। समाधान कारक उत्तर प्राप्त नहीं होने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जायेगी। कलेक्टर सोमवार को कलेक्टर सभाकक्ष में समय-सीमा की बैठक में विभागीय कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। इस अवसर पर मुख्यकार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्रीमति अनुग्रह पी, एसडी डिण्डौरी ओमप्रकाश सनोडिया, एसडीएम शहपुरा अमित बम्होरिया, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग मनोज लारोकर, जिला समन्वयक सर्व शिक्षा अभियान राघवेन्द्र मिश्रा सहित विभागीय अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

कलेक्टर अमित तोमर ने सभी अधिकारियों को ग्राम-गौराकन्हारी में आयोजित जिला स्तरीय लोक कल्याण शिविर में प्राप्त शिकायतों का निराकरण करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने शिविर में प्राप्त वनाधिकार पट्टों एवं खाद्यान्न राशन पर्ची संबंधित शिकायतों का निराकरण कर हितग्राहियों को लाभांवित करने को कहा। कलेक्टर ने कहा कि आगामी 16 मार्च को विकासखण्ड मेंहदवानी में जिला स्तरीय लोक कल्याण शिविर का आयोजन किया जायेगा। उन्होंने सभी अधिकारियों को शिविर के लिए आवश्यक तैयारियां पूरी करने के निर्देश दिए हैं।

कलेक्टर ने आयोजित बैठक में खाद्य विभाग के कार्यों की भी समीक्षा की और जिला सतर्कता समिति की बैठक आयोजित करने को कहा। कलेक्टर ने इसके बाद महिला सशक्तिकरण विभाग एवं परिवहन विभाग द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित पिंक ड्राईविंग लायसेंस शिविर के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि आवेदकों को तय समय-सीमा में ही ड्राईविंग लायसेंस प्रदान करने की कार्रवाई की जाए।

कलेक्टर तोमर ने आगामी गर्मी के मौसम में पेयजल समस्या से निपटने के लिए विस्तृत कार्ययोजना बनाने के निर्देष दिए हैं। उन्होंने कहा कि जिले में बंद पडी नलजल योजनाओं को प्रारम्भ और खराब पडे हेण्डपंपों को दुरूस्त किया जाए। कलेक्टर ने इस दौरान पीएचई विभाग की टेंडर प्रक्रिया के संबंध में जानकारी ली और विकासखण्ड करंजिया में पेयजल के लिए पानी की टंकी बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने इसी प्रकार से ग्राम-चंद्रागढ, सलैया, लालपुर एवं धमनगांव की पेयजल संबंधित समस्याओं का निराकरण करने को कहा।

कलेक्टर ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को स्कूलों में शैक्षिणिक व्यवस्था दुरूस्त करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि स्कूलो में नशे की हालत में पाये जाने वाले शिक्षकों के विरूद्ध कडी कार्रवाई की जाए। कलेक्टर तोमर ने इसी प्रकार से सभी विभागों के कार्यों की समीक्षा की। उन्होने बैठक में सीएम हेल्पलाईन, न्यायालीन प्रकरणों की भी समीक्षा की।