खुले आसमान के नीचे कोई व्यक्ति सोता हुआ न मिले : प्रयागराज मण्डलायुक्त

शेयर करें:

प्रयागराज। मण्डलायुक्त डाॅ0 आशीष कुमार गोयल ने आज त्रिवेणी सभागार में स्मार्ट सिटी के अन्तर्गत शहर में कराये जा रहे कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। साथ ही संबंधित अधिकारियों को स्मार्ट सिटी के पूरे किये गये कार्यों की गुणवत्ता परखने के निर्देश दिये।

उन्होंने कहा कि पूर्ण कराये गये कार्य मानक के अनुरूप होने चाहिए। कार्यदायी संस्था के अधिकारियों ने बताया कि स्मार्ट सिटी के तहत बनायी जाने वाली सड़कों में से महाराणा प्रताप चैराहे से मनमोहन पार्क तक बनाई जाने वाली सड़क, म्योर रोड पार्ट एक व दो तथा महाराणा प्रताप चैराहे से मिशन रोड आदि सड़कों का कार्य पूर्ण किया जा चुका है।

मण्डलायुक्त ने बस शेल्टर बनाये जाने तथा स्मार्ट पब्लिक टाॅयलेट की कार्ययोजना पर आशा के अनुरूप प्रगति न होने पर असंतोष व्यक्त किया। और चिन्हित स्थानों का लेआउट तैयार कराकर शीघ्र कार्य कराया जाए। इसी प्रकार स्मार्ट वाटर ड्रेनेज, दीवारों व सड़कों की पेंटिंग, सीवरेज सिस्टम, आदि कार्यों के लिए तैयार की गई कार्ययोजना पर शीघ्र अमल किया जाए और कार्यों को धरातल पर उतारा जाए।

सालिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लान की जानकारी लेते हुए मण्डलायुक्त ने कहा कि यह शहर को साफ-सुथरा बनाने के लिए एक अति महत्वपूर्ण कदम है। इस योजना को अतिशीघ्र परिणामी रूप देकर इस पर कार्य प्रारम्भ किया जाये ताकि शहर को स्वच्छ बनाया जा सके।

इसके अतिरिक्त स्मार्ट सिटी के तहत सीसीटीवी कैमरे लगाने का कार्य भी लगभग पूर्ण हो चुका है। उन्हे नेटवर्क से जोड़ने का कार्य अभी किया जा रहा है। इस पर मण्डलायुक्त ने कहा कि सीसीटीवी कैमरों को शीघ्र चालू कराया जाए। सुरक्षा एवं प्रशासानिक दृष्टि से यह महत्वपूर्ण भी है। बैठक में रिवर फ्रंट विकसित करने के प्रस्ताव पर भी चर्चा की गई तथा वेण्डर जोन व नान वेन्डर जोन बनाये जाने पर भी चर्चा की गयी।

रैन बसेरों के संचालन पर मण्डलायुक्त ने निर्देश दिये कि बाहर सोने वालों के लिए रैन बसेरे के रूप में प्रशासन द्वारा एक सुरक्षित व सुविधायुक्त स्थान उपलब्ध कराया जाता है। अतः अधिकारी जागरूकता के साथ इसके उद्देश्य की प्राप्ति सुनिश्चित करें। बैठक में प्रयागराज विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष- टी0के0 शिबू, नगर आयुक्त रवि रंजन तथा सभी संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।