लखनऊ : दिव्यांग महिला को बंधक बनाकर नौ लोगों ने किया सामूहिक दुष्कर्म, चार गिरफ्तार

शेयर करें:

लखनऊ. उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक मानवता को शर्मसार करने वाली घटना घटित हुई है. इसमें आलमबाग में दिव्यांग महिला को बंधक बनाकर सामूहिक दुष्कर्म किया गया. वारदात को अंजाम देने वाले आरोपियों की संख्या नौ बताई जा रही है. वारदात को आरोपियों ने आलमबाग थानाक्षेत्र के बीजी रेलवे कालोनी में अंजाम दिया. विरोध करने पर महिला की जमकर पिटाई की गई. पुलिस ने पीड़िता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया. पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. अन्य पांच की तलाश की जा रही है.

कृष्णानगर इलाके में रहने वाली महिला मानसिक रूप से बीमार है. उसके पिता रेलवे में हेड क्लर्क के पद से रिटायर हुए हैं. उन्होंने बताया कि बेटी 23 सितंबर की शाम घर से निकली थी. उसकी काफी तलाश की गई, लेकिन कोई सुराग नहीं लगा. रात करीब 9.30 बजे कृष्णानगर थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई. रात भर बेटी की तलाश करते रहें. अगले दिन 24 सितंबर की सुबह आलमबाग थाने से कॉल आई कि उनकी बेटी वहां मौजूद है. थाने पहुंचे तो बेटी की हालत देखकर बदहवाश हो गये. बेटी के पकड़े अस्त-व्यस्त और फटे हुए थे. शरीर पर कई जगह चोट के निशान थे.

बेटी ने बताया कि कृष्णानगर के आरती जूस कार्नर से उसे ऑटो चालक ने घर छोड़ने के बहाने बहला-फुसलाकर बैठा लिया. ऑटो चालक आलमबाग की ओर लेकर गया. रेलवे कालोनी में ले जाकर उसके साथ आठ लोगों ने दुष्कर्म किया. वारदात में एक महिला भी शामिल थी. प्रभारी निरीक्षक अरमनाथ विश्वकर्मा के मुताबिक वारदात में शामिल आरोपी शिवनंदन बीजी कालोनी रहता है. उसके साथी सोने लाल, अशोक कुमार और गिरजेश कुमार को पुलिस ने रविवार रात गिरफ्तार कर लिया गया है. प्रभारी निरीक्षक के मुताबिक पीड़िता के बयानों के आधार पर आरोपित महिला और चार अन्य युवकों की तलाश में पुलिस की टीमें दबिश दे रही हैं. आटो चालक शिवनंदन और सोने लाल, महिला को बहला फुसलाकर आटो में बिठाकर बीजी कालोनी ले गए थे.