नेत्रदान से मिली दो नेत्रहीनों को रोशनी

शेयर करें:

प्रयागराज: प्रयागराज थाना सोरांव क्षेत्र के गद्दोपुर ग्राम सभा के निवासी स्वर्गीय बृजराज सिंह (उर्फ) पप्पू सिंह उम्र 43 वर्ष पुत्र स्वर्गीय बिंदेश्वरी सिंह ग्रामसभा गद्दोपुर

आज क्या मुस्कुराता हुआ चेहरा अपनों के बीच नहीं है पर इनकी आंखों से किसी के जीवन में उजाला हुआ

के सर्वप्रथम व्यक्ति बन गए हैं जिन्होंने अपने नेत्रो को नेत्रहीनों के लिए दान कर दिया था 21/03/2019 मार्च को सुबह दिल का दौरा पड़ने से उनका स्वर्गवास हो गया उन्होंने अपने नेत्रों को पहले से ही नेत्र विभाग में दान कर रखा था जो कि उनके बड़े भाई गोपाल सिंह को इस बात की जानकारी थी छोटे भाई स्वर्गीय बृजराज सिंह की बातों को याद करके उन्होंने नेत्र चिकित्सक विभाग को सूचना दी नेत्र विभाग को सूचना मिलते ही डॉ सीतांशु शुक्ला डॉ बृजेश यादव डॉ कपिल देव ने पहुंचकर स्वर्गीय बृजराज सिंह के आवास पर उनकी कार्निया सुरक्षित तरीके से निकाला और चिकित्सालय में लाकर नेत्रहीनों को बुलाकर उनका प्रशिक्षण किया गया एमडी नेत्र चिकित्सालय के निदेशक डॉ एस पी सिंह डॉ क्षमा द्विवेदी और उनकी टीम द्वारा सकुशल कार्निया लगाई गई जिससे उन दो नेत्रहीनों के नेत्रों को रोशनी मिली उन दोनों नेत्रहीनों ने स्वर्गीय बृजराज सिंह को कोटि-कोटि नमन किया इस तरह के व्यक्ति आज समाज में अपनी वह छाप छोड़ जाते हैं जिसे आने वाली पीढ़ियां इतिहास के रूप में याद करती है स्वर्गीय बृज राज सिंह बहुत ही खुश दिल मिजाज के व्यक्ति थे वह जहां जाते वहां सब को अपनी बातों से अपने कार्यों से मोहित कर लेते थे वे राधा स्वामी सत्संग ब्यास से भी जुड़े थे स्वर्गीय बृजराज सिंह आज अपनों के बीच नहीं है पर उनके इस सराहनीय कार्य से समाज को बहुत बड़ा संदेश जाता है आज उनकी आंखों से जो लोग इस संसार को देख रहे हैं उन्होंने ना रहते हुए भी किसी के जीवन  मैं  उजाला किया (ब्यूरो रिपोर्ट प्रयागराज)