पं. नेहरू के गुटनिरपेक्ष तथा पंचशील सिद्धांतो से भारत बना दुनिया का नेता- प्रमोद तिवारी

शेयर करें:

लालगंज प्रतापगढ़ (जीतेन्द्र तिवारी )। देश के प्रथम प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरू की पुण्यतिथि पर यहाँ क्षेत्रीय विधायक आराधना मिश्रा मोना के कैम्प कार्यालय पर उनकी स्मृति को नमन किया गया। सीडब्लूसी मेंबर प्रमोद तिवारी तथा विधायक मोना के निर्देश पर कोविड प्रोटोकॉल के तहत कार्यकर्ताओं ने पं. नेहरू के चित्र पर माल्यार्पण किया।

कार्यक्रम को वर्चुअल संबोधित करते हुए सीडब्लूसी मेंबर प्रमोद तिवारी ने कहा कि पं. जवाहर लाल नेहरू ने गुटनिरपेक्ष आंदोलन तथा पंचशील व देश के आर्थिक विकास के ढाँचे को मजबूती प्रदान करते हुए आधुनिक भारत का नेतृत्व प्रशस्त किया। श्री तिवारी ने कहा कि पं. नेहरू के सशक्त वैचारिक मूल्यों ने भारत को अंतर्राष्ट्रीय पटल पर एक सशक्त नेता होने का भी आजादी के दौर से ही स्वर्णिम दर्जा प्रदान कराया।

वहीं काँग्रेस विधानमण्डल दल की नेता आराधना मिश्रा मोना ने भी वर्चुअल कार्यकर्ताओं से रूबरू होते हुए कहा कि पं. जवाहर लाल नेहरू ने भारतीय अर्थव्यवस्था को मजबूती देने के साथ स्वतंत्रता के मूल्यों की अक्षुण्य रक्षा में देश को गौरवशाली उपलब्धियाँ सौंपी। सीएलपी नेता मोना ने कहा कि गाँव के विकास को पं. नेहरू के पंचवर्षीय आधारगत विकास के सौपे गये ढाँचे से ही राष्ट्रीय प्रगति को गतिशीलता मिल सकी ।

कार्यक्रम की अध्यक्षता ब्लॉक काँग्रेस अध्यक्ष के० डी० मिश्र तथा संचालन मीडिया प्रभारी ज्ञानप्रकाश शुक्ल ने किया। संयोजन करते हुए चेयरपर्सन प्रतिनिधि संतोष द्विवेदी ने लोगों के प्रति आभार जताया। इस मौके पर अनिल महेश, रामू मिश्र, छोटे लाल सरोज, प्रीतेन्द्र ओझा, सुजीत कोरी, सोनू मिश्र, शुभम शुक्ल, मुन्ना शुक्ल, मुरलीधर तिवारी आदि रहे।