सुकमा में बड़ा नक्सली हमला, 9 जवान शहीद

शेयर करें:

छत्तीसगढ़ के सुकमा में बड़ा नक्सली हमला, लैंडमाइन ब्लास्ट में 9 जवान शहीद, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने घटना पर जताया दुख. नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में एक बार फिर माओवादियों ने अपनी कायराना हरकत से इंसानियत को शर्मसार किया है।

उन्होंने जो किया उसकी कीमत हमें उन 9 बहादुर जवानों को खोकर चुकानी पड़ी जो एक प्रहरी के रूप में हमे दिन-रात सुरक्षित करने में जुटे थे। मंगलवार को जब वे अपने अभियान के लिए निकले तब शायद ही उन्हें इस बात का अंदाजा रहा होगा कि पहले से घात लगाए नक्सली उन पर जानलेवा हमला करने वाले हैं।

खबरों के मुतबिक इस हमले को तब अंजाम दिया गया जब सीआरपीएफ 212वीं बटालियन का बल माइन प्रोटेक्शन व्हीकल में सवार होकर सड़क निर्माण में लगे श्रमिकों की सुरक्षा के लिए ग्राम पालोदी की ओर रवाना हुआ था। जंगल में घात लगाए नक्सलियों ने पुलिस को निशाना बनाते हुए बारूदी सुरंग विस्फोट कर दिया। विस्फोट इतना शक्तिशाली था कि वाहन के परखच्चे उड़ गए। विस्फोट के बाद नक्सलियों ने पुलिस पर फायरिंग भी की। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी मोर्चा संभालते हुए गोलीबारी की।

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने इसे एक दुखद घटना बताया। उन्होंने शहीद जवानों के प्रति अपनी संवेदनाएं प्रकट की। राजनाथ सिंह ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह से बातकर हालात की जानकारी ली तो सीआरपीएफ डीजी को उन्होंने छत्तीसगढ़ जाकर जायजा लेने के निर्देश दिए। घटना में दो जवान घायल हुए हैं। घायल जवानों को प्राथमिक उपचार के बाद रायपुर रेफर किया गया है। पुलिस ने बताया कि घटना स्थल पर अतिरिक्त पुलिस बल भेजा गया है।

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने भी घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि सुकमा, छत्तीसगढ़ में हुए हमले से आहत हूं। हमे सुरक्षित रखने की ड्यूटी निभाने में शहीद हुए CRPF के जवानों को भारत नमन करता है। उनके परिवारों के प्रति शोक संवेदनाएं।

हम आतंकवाद के प्रत्येक स्वरुप को पराजित करने के अपने संकल्प में पूरी तरह दृढ़ हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी घटना पर खेद प्रकट किया है। उन्होंने कहा कि सुकमा, छत्तीसगढ़ में हुए हमले में शहीद हुए बहादुर सीआरपीएफ जवानों को भारत नमन करता है। बहादुर शहीदों के परिजनों और दोस्तों के प्रति मेरी संवेदनाएं। इस दुख की घड़ी में राष्ट्र उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है।