नौसेना को मिली पनडुब्बी ‘कलवरी’

शेयर करें:

नौसेना को देश में बनी स्कॉर्पिन सीरीज की पहली पनडुब्बी ‘कलवरी’ मिली। अत्याधुनिक तनीक और मारक क्षमता से लैस कलवारी को मझगांव डॉकयार्ड ने तैयार किया है।

बरसों के लंबे इंतजार के बाद नौसेना को स्कॉर्पिन सीरीज की पहली पनडुब्बी कलवरी हासिल हो गई है। नौसेना अगले महीने एक बड़े समारोह में इसे अपने बेड़े में शामिल करने की तैयारी कर रही है।

इसे मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड ने फ्रांस की कंपनी डीसीएनएस के साथ मिलकर मुंबई स्थित मझगांव डॉकयार्ड में तय वक्त में तैयार किया है।

मेक इन इंडिया के तहत बनी यह पनडुब्बी दुश्मन की नजरों से बचकर सटीक निशाना लगा सकती है। ये टॉरपीडो और ऐंटी शिप मिसाइलों से हमले कर सकती है। कलवरी के बाद दूसरी पनडुब्बी खंदेरी का समुद्र में मूवमेंट जून में शुरू हो गया था।

अगले साल इसे भारतीय नौसेना में शामिल किया जाएगा। तीसरी पनडुब्बी वेला को इसी साल पानी में उतारा जाएगा। भारत के समुद्री कौशल को मजबूत करने की उम्मीद के तहत यह भारतीय नौसेना के पनडुब्बी कार्यक्रम में मील का पत्थर साबित होगा।