इंदौर: अब राशन का आर्डर लेगी नगर निगम की कचरा गाड़ी

शेयर करें:

इंदौर। संभागायुक्त आकाश त्रिपाठी की अध्यक्षता में किराना सामान, राशन एवं दूध की होम डिलीवरी से संबंधित बैठक संपन्न हुई। बैठक में नगर निगम आयुक्त आशीष सिंह, उपायुक्त संदीप सोनी एवं रजनीश कसेरा , सांची दुग्ध संघ के संयुक्त संचालक द्विवेदी, आदि उपस्थित थे।

त्रिपाठी ने बताया कि, लोग घर में ही रहें एवं बाहर किसी भी दुकान पर भीड़ इकट्ठी न हो, इसके लिए प्रशासन होम डिलीवरी की सेवा शुरू कर रहा है। इसके तहत ऑर्डर देने पर सामान संबंधित के घर पहुंचाया जाएगा। शुरुआत में ज्यादा मांग होने के कारण 1 से 2 दिन का समय लग सकता है, जबकि बाद में कुछ घंटों में ही सामान घर पहुंच पहुंचाया जा सकेगा।

संभागायुक्त ने बताया कि इस प्रक्रिया में नगर निगम की डोर टू डोर जाने वाली कचरा गाड़ी के द्वारा ऑर्डर लिया जाएगा। आमजन ऑर्डर देकर आवश्यकतानुसार राशन प्राप्त कर सकेंगे।

कमिश्नर ने बताया कि लॉक डाउन तथा कर्फ्यू का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के लिए यह कदम अति आवश्यक है। कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग एवं लोग घर में रहें यह सुनिश्चित करना आवश्यक है। लेकिन लोगों की बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति करना भी प्रशासन का कर्तव्य है। आवश्यक वस्तुएं जैसे आटा, दाल, चावल, तेल, दूध , शक्कर आदि उनके घर तक पहुंचाया जाएगा।

उन्होंने जनता से अपील भी की कि, विपरीत परिस्थितियों में कम आवश्यकताओं में जीवन यापन कर, करोना संकट की लड़ाई में वे प्रशासन का सहयोग कर सकते हैं।अतः लोग घर से बाहर ना निकले। केवल अति महत्वपूर्ण कार्य जैसे जरूरी चिकित्सकीय परामर्श एवं दवा लेने के लिए ही बाहर निकले। दवा खरीदने के लिए व्यक्ति उसके घर के सबसे नजदीक वाली दुकान पर पैदल जा सकता है।

उन्होंने बताया कि, राशन की आपूर्ति के लिए यह सुनिश्चित किया जाएगा कि होलसेल विक्रेताओं के स्टॉक में कोई कमी ना हो। आलू प्याज भी किराने के सामान के साथ ही खरीदे जा सकेंगे तथा हरी सब्जियों की सप्लाई अभी नहीं की जावेगी। इसके अतिरिक्त सामान क्रय करने की अपपर लिमिट भी तय की जाएगी जिससे कि लोग ओवरस्टॉकिंग ना करें।