मुंबई: भगदड़ में 22 लोगों की मौत, जांच का एलान

शेयर करें:

मुंबई के परेल-एलफिंस्टन स्टेशन पर शुक्रवार सुबह एक दर्दनाक हादसे में 22 लोगों की मौत हो गई। यह हादसा स्टेशन को जोड़ने वाले पुल पर भगदड़ मचने से हुआ। हादसे के बाद रेल मंत्री पीयूष गोयल घटनास्थल पर पहुंचे और हालात का जायजा लिया। रेल मंत्री ने इस पूरी घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं और कहा है कि मुंबई के स्टेशनों पर बने हुए सभी पुलों का जायजा लिया जाएगा और जहां कही भी इस तरह का हादसा होने की गुंजाइश है वहां तत्काल पुलों को चौड़ा करने का काम शुरू किया जाएगा।

सुबह के करीब साढ़े दस बजे जब लोअर परेल और एलफिंस्टन स्टेशनों पर काफी भीड़ होती है और लोग ट्रेन पकड़ने के लिए भागते रहते हैं। उसी समय भारी बारिश होने लगी। बारिश की वजह से लोग सेंट्रल लाइन के परेल स्टेशन और वेस्टर्न रेल लाइन के एलफिंस्टन स्टेशन को कनेक्ट करने वाले ब्रिज पर ही रुक गए। ब्रिज पर भीड़ बढ़ने लगी, जबकि कोई उतरने को तैयार नहीं था। ऐसी स्थिति में सेंट्रल लाइन की ट्रेन पकड़ने के लिए धक्का-मुक्की होने लगी और इसी घटना ने भगदड़ का रूप ले लिया। लोग एक-दूसरे के ऊपर चढ़ने लगे, जिससे 22 लोगों की मौत हो गई।

हादसे के फौरन बाद ही स्थानीय लोग और पुलिस की मदद से घायलों को प्राथमिक मदद देने की कोशिश शुरू हुई। कुछ देर में ही रेलवे, आपदा प्रबंधन, फायर ब्रिगेड और स्थानीय प्रशासन के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए और बचाव और राहत कार्य तेज कर दिया गया। हादसे के कुछ देर बाद ही एनडीआरएफ की टीम भी घटनास्थल पर पहुंची चुकी थी। पुलिस और अस्पताल की कोई भी सुविधा पहुंचने तक लोगों ने खुद ही घायलों की मदद की। गंभीर रूप से घायलों को अस्पवताल के लिए रवाना किया गया।
ज्यादातर घायल लोगों को केईएम अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घायलों के इलाज के लिए बड़ी संख्या में लोग ब्लड डोनेट करने के लिए आ रहे हैं।
मुंबई पहुंचे रेल मंत्री पीयूष गोयल ने अस्पताल पहुंचकर घायलों का हाल-चाल जाना। उन्होंने भगदड़ में मारे गए लोगों के प्रति गहरी संवेदना जताई और कहा है कि इस दुर्घटना की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि भविष्य में ऐसी घटना न हो, इसके लिए व्यापक कदम उठाए जाएंगे।
रेल मंत्री ने मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये, गंभीर रूप से घायलों को एक-एक लाख रुपये और अन्य घायलों को 50-50 हज़ार रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भगदड़ में मारे गए सभी लोगों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये की सहायता राशि देने तथा घायलों का इलाज सरकारी खर्च पर कराने की घोषणा की है।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे में मारे गए लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त की हैं। राष्ट्रपति ने शोक जताते हुए कहा- मुंबई में भगदड़ के हादसे से गहरा दुःख हुआ। शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना, घायलों के लिए प्रार्थना।
प्रधानमंत्री ने ट्विटर पर लिखा- मुंबई में मची भगदड़ में जिन लोगों की जान गई है उनके प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं। मेरी प्रार्थनाएं घायलों के साथ हैं। हालात पर लगातार नज़र रखी जा रही है। पीयूष गोयल मुंबई में हैं और हालात का जायजा लेते हुए हरसंभव सहायता सुनिश्चित कर रहे हैं।
हादसे को रेल मंत्रालय ने बेहद गंभीरता से लिया है। रेल मंत्री ने साफ कर दिया है कि मुंबई के जिन रेलवे पुलों पर अधिक भीड़ होती है उन पुलों के सुरक्षा कारणों से जांच के आदेश दिए जाएंगे और जहां जरूरत होगी तुरंत पुल का विस्तार किया जाएगा। साथ ही उपनगरीय ट्रेन नेटवर्क में सभी एफओबी की पूरी सुरक्षा और क्षमता जांच कराई जाएगी।