‘मॉय ट्रैफिक- माय सेफ्टी ’ एप ने खोज निकाला यात्री का गुमा बैग

शेयर करें:

जबलपुर। यातायात पुलिस के बेहद महत्तपूर्ण मॉय ट्रैफिक मॉय सेफ्टी एप ने छिंदवाड़ा से आए यात्री के गुम हुए बैग को 30 मिनिट में तलाश लिया। बैग में अतिआवश्यक दसतावेज एवं अन्य जरूरी सामान रखे होने के कारण युवक ने पुलिस के एप का प्रयोग किया, जिसके बाद एप के माध्यम से पुलिस ने यात्री के बैग को तलाश लिया।

बैग मिलते ही युवक ने जबलपुर पुलिस और ट्रेफिक पुलिस जबलपुर के एप की जमकर तारीफ करते हुए उन्हें धन्यवाद दिया। उल्लेखनीय है कि पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा(भा.पु.से.) एवं तत्कालीन अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात अगम जैन (भा. पु. से.) द्वारा ‘मॉय ट्रैफिक माय सेफ्टी ’ एप की शुरूआत की गई थी।

छिंदवाड़ा से जबलपुर आईएसबीटी पहुंचे युवक पंकज कुमार साहू दीनदयाल चौराहे से एक आटो में बैठकर तीनपत्ती चौक के लिए रवाना हुआ था। पंकज ने आटो से उतरते वक्त ध्यान नहीं रखा कि उसका बैग आटो में ही छूट गया है। कुछ देर बाद उसे बैग का ध्यान आया, लेकिन तब तक आटो जा चुका था।

पंकज को आटो का नंबर 1526 याद था। पंकज ने ‘मॉय ट्रैफिक-मॉय सेफ्टी’ एप के माध्यम अपनी शिकायत दर्ज की, जिसके बाद जबलपुर यातायात पुलिस ने 1526 नंबर के आटो चालक को ट्रेस करते हुए उनके मोबाइल पर संपर्क किया।1526 नंबर के एक ऑटो चालक ने पुलिस को बताया कि उसके आटो में एक बैग कोई यात्री भूल गया है। ट्रेफिक पुलिस ने आटो चालक से बैग लेते हुए यात्री पंकज को सुरक्षित बैग वापस लौटा दिया।