मोदी लोगों के नहीं, राजनीति के सेवक हैं : कांग्रेस

शेयर करें:

कांग्रेस ने रविवार को इस हफ्ते की शुरुआत में एक हादसे में वाराणसी में 18 लोगों की मौत होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा वाराणसी का दौरा नहीं करने की निंदा की और कहा कि मोदी लोगों के नहीं राजनीति के सेवक हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी से सांसद हैं।

कांग्रेस के प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने यहां संवाददाताओं से यह बात कही। साथ ही, उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से शनिवार को कर्नाटक विधानसभा में विश्वास मत से पहले कथित तौर पर कुछ भाजपा नेताओं द्वारा कांग्रेस व जेडीएस के विधायकों को प्रभोलन देने की जांच कराने की मांग भी की।

वाराणसी में मंगलवार को हुई घटना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री सिर्फ तालियों की आवाज सुनते हैं, कष्ट में पड़े लोगों की नहीं.. उन्हें लोगों से मिलने जाने का समय नहीं मिला।”

पश्चिम बंगाल में एक फ्लाईओवर के गिरने के बाद मोदी की टिप्पणी की याद दिलाते हुए शेरगिल ने कहा कि उन्हें अब ‘समझना चाहिए कि वाराणसी में फ्लाईओवर के हिस्से का गिरना एक संदेश है और यह किसके लिए है।’

मोदी ने पश्चिम बंगाल में फ्लाईओवर के गिरने पर अपनी टिप्पणी में कहा था कि यह आपदा पश्चिम बंगाल के लोगों को तृणमूल कांग्रेस के शासन से बचाने के लिए ईश्वर का संदेश है।

उन्होंने कहा, “मोदी चुनाव अभियान में अत्यधिक जोश दिखाते हैं। वह दर्द के शिकार लोगों के प्रति चिंता क्यों नहीं दिखा सकते हैं। प्रधानमंत्री चुनावी रणनीति के लिए पूरे साल के लिए समय निकाल सकते हैं, लेकिन अपने स्वयं के निर्वाचन क्षेत्र में हुए हादसे के लिए कुछ घंटे भी नहीं निकाल सकते।”

शेरगिल ने कहा, “प्रधानमंत्री अपने खुद के निर्वाचन क्षेत्र को धोखा देने और दुख में अपने लोगों को छोड़ देने के दोषी हैं। वह लोगों के सेवक नहीं हैं, वह राजनीति के सेवक हैं।”

येदियुरप्पा के विश्वास मत परीक्षण से पहले पद छोड़ने का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, “लोगों ने मोदी तंत्र के ऊपर लोकतंत्र को जीतते देखा। येदियुरप्पा एक शहीद नहीं भ्रष्ट राजनीतिज्ञ हैं।”

उन्होंने कहा, “हम उम्मीद करते है कि प्रधानमंत्री अपने विधायकों द्वारा भ्रष्टाचार के नग्न प्रदर्शन की जांच के आदेश देंगे, जो कांग्रेस व जेडीएस के विधायकों को तोड़ने व रिश्वत देने में जुटे थे।”