36 घंटे वाले स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन 2018 की तैयारी में जुटा संचार मंत्रालय

शेयर करें:

संचार मंत्रालय के दूरसंचार विभाग ने घोषणा की कि बहु-प्रतीक्षित स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन 2018- सॉफ्टवेयर संस्करण ग्रैंड फिनाले देशभर में 28 विभिन्न प्रमुख केन्द्रों पर एक साथ 30 औक 31 मार्च, 2018 को आयोजित किया जाएगा।

संचार मंत्रालय का दूरसंचार विभाग इस पहल में एक ‘प्रमुख साझेदार’ है। पुणे में 16 अक्टूबर, 2017 को लांच किया गया स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन 2018 विद्यार्थियों की रचनात्मकता एवं विशेषज्ञता का उपयोग करता है, ‘स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया’ अभियान के लिए विशेष माध्यम बनाता है, गवर्नेंस एवं जीवन स्तर बेहतर करने के लिए आम जनता से सोल्यूशन्स जुटाता है और भारत की विभिन्न गंभीर समस्याओं के अभिनव समाधान उपलब्ध कराने के लिए देश के नागरिकों को उपयुक्त अवसर प्रदान करता है।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एमएचआरडी) के तत्वावधान में अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) और आई4सी, माईगव (MyGov), परसिसटेंट सिस्टम्स और रामभाऊ म्हाल्गी प्रबोधिनी के सहयोग से स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन 2018 का आयोजन किया जा रहा है। 27 केन्द्रीय मंत्रालय एवं विभाग और 17 राज्य सरकारें इस भव्य पहल से जुड़ गई हैं।

स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन 2018 अपने पिछले संस्करण के मुकाबले काफी बड़ा है। इसमें दो उप-संस्करण शामिल हैं। इनमें से एक सॉफ्टवेयर संस्करण है, जो 36 घंटे की सॉफ्टवेयर उत्पाद विकास प्रतिस्पर्धा को अभिव्यक्त करता है और इसका आयोजन 30 एवं 31 मार्च, 2018 को किया जाएगा। इनमें एक हार्डवेयर संस्करण भी शामिल है, जिसका वास्ता हार्डवेयर समाधानों के विकास से है। इस संस्करण का आयोजन चालू वर्ष के उत्तरार्द्ध में किया जाएगा।

सॉफ्टवेयर संस्करण ग्रैंड फिनाले के दौरान हजारों प्रौद्योगिकी विद्यार्थियों की टीमें केन्द्र सरकार के विभिन्न मंत्रालयों/विभागों द्वारा प्रस्तुत की गई समास्याओं के लिए अभिनव डिजिटल सोल्यूशन्स पेश करेंगी। स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन 2017 के आयोजन के बाद स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन 2018 भारत में दूसरी व्यापक हैकाथॉन पहल साबित होगी। इसके विजेताओं को नकद पुरस्कार दिए जाएंगे और इसके साथ ही उन्हें नैस्कॉम के 10,000 स्टार्टअप्स कार्यक्रम का हिस्सा बनने का अवसर प्राप्त होगा।