मंत्री जी दमोह में प्रचार कर रहे हैं, अस्पताल में लोग खुद कर रहे कोरोना टेस्ट, माली इकट्ठे कर रहा सैंपल

शेयर करें:


सांची :  यहां के सरकारी अस्पताल में एक माली लोगों के कोरोना टेस्ट के सैंपल इकट्ठे करता नजर आया। जिस काम को प्रशिक्षित स्वास्थ्यकर्मी द्वारा किया जाना चाहिए, उसके लिए माली का सहारा लिया जा रहा है। सिर्फ इतना ही नहीं, यहां लोग खुद ही अपना कोरोना वायरस टेस्ट कर रहे हैं। इसके चलते अस्पताल प्रशासन पर कई सवाल खड़े हो गए हैं।

माली ही बताता है टेस्ट करने का तरीका
इंडिया टुडे के अनुसार, सांची के सरकारी अस्पताल में टेस्ट कराने आ रहे लोगों को खुद ही टेस्ट करना पड़ रहा है। अस्पताल में काम करने वाली माली हल्के राम यहां आये लोगों को बताते हैं कि उन्हें टेस्ट कैसे करना है और फिर उनके सैंपल खुद इकट्ठे करते हैं। राम ने दावा किया कि अस्पताल में काम करने वाले सभी लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं इसलिए उन्हें सैंपल लेने पड़ रहे हैं।

माली का क्या कहना है?
राम ने कहा, “मैं यहां माली का काम करता हूं। मैं एक स्थायी कर्मचारी नहीं हूं, लेकिन अस्पताल में काम करने वाले बाकी लोग कोरोना संक्रमित हो गए हैं तो उन्हे सैंपल लेने पड़ रहे हैं।” गौरतलब है कि कोरोना वायरस की दूसरी और पहले से अधिक खतरनाक लहर का सामना कर रहे कई राज्यों में हालात खराब हो चुके हैं। कई जगहों पर ऑक्सीजन और बिस्तरों की कमी पड़ रही है तो कई जगह स्वास्थकर्मियों की भारी कमी है।

माली को सैंपल इकट्ठे करने का प्रशिक्षण दिया गया- अस्पताल प्रभारी
जब अस्पताल प्रभारी और खंड चिकित्सा अधिकारी राजश्री तिड़के से माली द्वारा सैंपल इकट्ठे करने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने इसका बचाव करते हुए कहा कि माली को इस काम के लिए प्रशिक्षण दिया गया है। तिड़के ने कहा, “हम क्या कर सकते हैं। कर्मचारी कोरोना संक्रमित हो गए हैं, लेकिन काम तो जारी रखना पड़ेगा। इसलिए आपातकालीन विकल्प के तौर पर हमने माली समेत कई लोगों को सैंपल इकट्ठे करने के लिए प्रशिक्षण दिया है।

स्वास्थ्य मंत्री के विधानसभा क्षेत्र में है सांची
सांची मध्य प्रदेश की रायसेन विधानसभा सीट के अंतर्गत आता है, जहां से राज्य के स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभूराम चौधरी विधायक हैं। स्वास्थ्य मंत्री के विधानसभा क्षेत्र में ऐसे इंतजामों को देखते हुए कई सवाल खड़े उठने लगे हैं।

मध्य प्रदेश में बीते दिन मिले लगभग 6,500 मरीज
मध्य प्रदेश में बीते दिन कोरोना के 6,489 नए मामले सामने आए और 37 लोगों की मौत हुई। इसके साथ ही प्रदेश में इस वायरस से अब तक संक्रमित पाए गए लोगों की कुल संख्या 3,44,634 तक पहुंच गई है। इनमें से 38,651 सक्रिय मामले हैं और 4,221 लोगों की मौत हो चुकी है। बीते कुछ दिनों से संक्रमण की तेज रफ्तार का सामना कर रहे मध्य प्रदेश में नाइट कर्फ्यू और वीकेंड लॉकडाउन समेत कई पाबंदियां लागू हैं।

देशभर में संक्रमण की क्या स्थिति?
भारत में बीते दिन कोरोना के 1,61,736 नए मामले सामने आए और 879 मरीजों की मौत हुई है। इसी के साथ देश में कुल संक्रमितों की संख्या 1,36,89,453 हो गई है। इनमें से 1,71,058 लोगों को इस खतरनाक वायरस के कारण अपनी जान गंवानी पड़ी है और सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 12,64,698 हो गई है। वहीं अगर वैक्सीनेशन अभियान की बात करें तो अब तक वैक्सीन की 10,85,33,085 खुराकें लगाई जा चुकी हैं। बीते दिन 40,04,521 खुराकें लगाई गईं।