गैलेक्सी हॉस्पिटल में मरीज को लाखों का बिल,मरीज को बनाया गया बंधक

शेयर करें:

जबलपुर@ उखरी चौकी के पास गैलेक्सी हॉस्पिटल में इलाज के लिए आये एक मरीज का जब लाखों का बिल हो गया तो मरीज के परिजनों ने शासकीय अस्पताल जाने की बात कही, लेकिन हॉस्पिटल में करीब पांच लाख का इलाज कराकर लुटे-पिटे मरीज के परिजनों के पास पैसे नहीं थे, इस बात से खफा होकर अस्पताल प्रबंधन ने मरीज को ही पैसे के लिए बंधक बना लिया। इतना ही नहीं जब पीडि़त मरीज के परिजनों ने हॉस्पिटल प्रबंधन से पैसे की कमी होने की गुहार लगाकर सेवा चार्र्ज अधिक वसूलने की बात कही तो हॉस्पिटल प्रबंधन ने इन बातों को सिरे से खारिज कर दिया और तत्काल पैसे भरने की मांग करने लगा। जिसके बाद पीडि़त मरीज के परिजनों में हॉस्पिटल में भारी हंगामा कर दिया। बात बढ़ते देख मौके पर लार्डगंज पुलिस दल-बल के साथ पहुंची।

प्रबंधन अपनी ही बात पर ही अड़ा रहा। मरीज के परिजनों ने बताया कि अभी तक इलाज में करीब पांच लाख रुपए दे चुके है, लेकिन अस्पताल प्रबंधन अभी करीब पांच लाख रुपए की और डिमांड कर रहा था। हम इतने पैसे कहां से दे पाएंगे। जिसके बाद परिजनों ने मरीज को शासकीय अस्पताल में भर्ती करने की बात कही तो अस्पताल प्रबंधन भारी भरकम बिल दिखाने लगा। जब परिजनों ने सेवा चार्ज अधिक होने की बात कही तो प्रबंधन अपनी ही बात पर अड़ गया और मरीज के बंधक बना लिया।

बृहस्पति चतुर्वेदी के बेटे आयुष चतुर्वेदी निवासी रीवा ने बताया कि करीब 10 दिन से उसके पापा हॉस्पिटल में इलाजरत है। जब मरीज भर्ती किया गया था, उस दिन रविवार था। जिसके चलते कोई भी मरीज को देखने तक नहीं आया और उसे एडमिट करा लिया। लेकिन इतने दिन व्यतीत हो जाने के बाद भी मरीज की हालत में कोई सुधार नहीं दिखा।