पुणे की केमिकल फैक्ट्री में लगी भीषण आग, 12 लोगों की मौत, कइयों के फंसे होने की आशंका

शेयर करें:

महाराष्ट्र के पुणे में एक केमिकल फैक्ट्री में लगी भीषण आग में 12 लोगों की मौत हो गई और कइयों के फंसे होने की आशंका है. न्यूज एजेंसी ANI ने यह जानकारी दी है. न्यूज एजेंसी ने फायर डिपार्टमेंट के हवाले से बताया कि पुणे के घोटावाडे फाटा इलाके में लगी भीषण आग पर काबू पा लिया गया है और राहत और बचाव अभियान जारी है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यह एक सैनेटाइजर की कंपनी है, जिसमें कई मजदूर अब भी फंसे हुए हैं. बताया जा रहा है कि कैमिकल फैक्ट्री होने की वजह से आग बुझाने काफी दिक्कते आ रही हैं. न्यूज एजेंसी ANI ने फायर डिपार्टमेंट के हवाले से बताया है कि मौके पर 12 लोगों के शव मिले हैं. अब भी 5 लोग लापता हैं. अग्निशमन विभाग के मुताबिक ड्यूटी पर तैनात 37 कर्मचारियों में से 20 को बचा लिया गया है.

घटना सोमवार दोपहर 3.30 बजे पिरानगट गांव के पास स्थित एमआईडीसी क्षेत्र में स्थित एक निजी फैक्ट्री में घटी. आग इतनी तेजी से फैली कि फैक्ट्री में काम करने वालों को बचने का मौका तक नहीं मिला. जो लोग मारे गए हैं, उनमें से अधिकांश ने दम घुटने से दम तोड़ा है. पुणे ग्रामीण पुलिस कंट्रोल के एक अधिकारी ने कहा कि फैक्ट्री में अभी भी 10 लोग फंसे हुए बताए जा रहे हैं क्योंकि इतने ही लोग लापता हैं.

इससे पहले, तहसीलदार अभय चौहान ने कहा कि अब तक 11 लोगों की जान गई है और राहत तथा बचाव कार्य पूरी तेजी से जारी है. एमआईडीसी, मुलशी से फायर ब्रिगेड की टीमें तथा आपदा बचाव टीमें घटनास्थल पर पहुंच गई हैं. प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि फैक्ट्री में आग लगने के बाद पुरुष कामगार भागने में सफल रहे. लोगों को बचाने के प्रयास में परिसर के एक हिस्से को बुलडोजर से गिराना भी पड़ा.