मंडला जिले को बेस्ट प्रोग्रेसीव जिले का खिताब मिला

शेयर करें:

मण्डला @ आधारभूत संरचना के क्षेत्र में पिछले दस वर्षों में सबसे तेज़ गति से विकास करने वाले जिले का खिताब मिला। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के हाथों ये पुरुस्कार मण्डला जिले के जिला पंचायत सीईओ एसएस रावत ने प्राप्त किया। ज़ेहान नुमा होटल में इंडिया टुडे द्वारा आयोजित इस “द स्टेट ऑफ द स्टेट कॉन्क्लेव में मंडला जिले को बेस्ट प्रोग्रेसीव जिले का खिताब मिला।

मुख्यमंत्री द्वारा इस अवसर पर मंडला के अधिकारियों की तारीफ़ भी की गयी। मुख्यमंत्री ने अपने सम्बोधन में श्रेष्ठ मध्यप्रदेश के निर्माण का अपना विज़न सबके सम्मुख रखा एवं सभी पुरस्कृत जिलों को बधाई दी। इंडिया टुडे द्वारा पिछले दस वर्षों में हुए विकास का विभिन्न मापदंडों के आधार पर आंकलन किया एवं प्रदेश में अलग अलग क्षेत्र में श्रेष्ठ जिलों का चयन किया, साथ ही उन जिलों का चयन भी किया जो बहुत गति से आगे बढ़ रहे हैं। स्वास्थ्य, शिक्षा, इन्फ़्रस्ट्रक्चर, सर्विस डिलिव्री, लॉ एंड ऑर्डर, कृषि आदि क्षेत्रों में श्रेष्ठ और प्रोग़्रेसिव जिलों का चयन किया गया। इस कार्यक्रम में नरेंद्र सिंह तोमर और संजय पाठक भी उपस्थित रहे और उन्होंने अपने अपने विभाग की कार्ययोजना सबके सामने रखी।

मण्डला जिले को यह पुरस्कार मिलने पर कलेक्टर सूफिया फारूकी वली ने कहा कि ये एक माह में यह दूसरा मौका है जब मण्डला को कोई पुरुस्कार मिला है, उन्होंने टीम मण्डला को इसके लिये बधाई प्रेषित की। जिला पंचायत सीईओ ने बताया कि ये अवॉर्ड टीम मंडला की विगत कई वर्षों की मेहनत का परिणाम है। इंफ़्रास्ट्रक्चर में सभी विभाग शामिल होते है जिनकी मेहनत को राज्यस्तर पर सराहा है। उन्होंने कहा कि अब हमारी जिम्मेदारी और बढ़ गई है, उम्मीद करते हैं कि नये वित्तीय वर्ष में सभी विभाग दुगनी मेहनत और योजना बनाकर काम करेंगे।