बिहार में दवा खरीदने आए शख्स की दुकान पर ही हुई मौत; निकला कोरोना पॉज़िटिव

शेयर करें:

भागलपुर। दवा खरीदने आए एक शख्स की दुकान पर ही मौत होने और उसकी लाश करीब 5 घंटे तक पड़े रहने का मामला सामने आया है। डिप्टी मेयर राजेश वर्मा ने बताया कि दो मज़दूर लाश को कोविड-19 टेस्टिंग के लिए अस्पताल लेकर गए थे। सिविल सर्जन ने बताया कि जांच में मृतक कोरोना पॉज़िटिव पाया गया है। मौत के बाद दवा दुकानदार दुकान छोड़कर भाग गया। पांच घंटे तक दुकान के दवा काउंटर के पास लाश पड़ी रही। मौके पर पहुंचे डिप्टी मेयर ढाई घंटे तक सिविल सर्जन व अपर नगर आयुक्त को फोन लगाते रहे, लेकिन किसी ने भी कॉल रिसीव नहीं किया। डिप्टी मेयर राजेश वर्मा ने बताया कि अंत में उन्होंने चार हजार रुपये देकर दो मजदूर मंगवाया। पीपीई किट पहनकर मजदूर लाश को कोरोना जांच के लिए सदर अस्पताल ले गए। सिविल सर्जन डॉ. विजय कुमार सिंह ने बताया कि कोरोना जांच में अज्ञात मृतक कोरोना पॉजिटिव पाया गया है।

दुकान पर थी भीड़, सामाजिक दूरी का भी नहीं रखा जा रहा था ख्याल
एमपी द्विवेदी रोड स्थित आत्माराम मेडिकल स्टोर्स पर सुबह 11 बजे 50 वर्षीय एक व्यक्ति आया था। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, दुकान पर दवा खरीदारों की बहुत भीड़ थी। सामाजिक दूरी का भी ख्याल नहीं रखा जा रहा था। वह व्यक्ति अस्थमा से पीड़ित था, इसलिए उसकी सांसें लगातार फूल रही थीं। वह बार-बार दुकानदार से इन्हेलर मांग रहा था। 11:30 बजे अचानक उस शख्स की सांसें तेज हो गयी थीं। जब तक लोग कुछ समझ पाते थे, तब तक वह नीचे गिर पड़ा। कुछ देर तक तड़पने के बाद उसकी मौत हो गयी। मौत के बाद दवा दुकानदार अपनी जिम्मेदारी को निभाने के बजाय वहां से भाग गया। बाहर खड़े लोग भी कोरोना के डर से लाश के पास जाने से कतरा रहे थे।

भागलपुर केमिस्ट ड्रगिस्ट एसोसिएशन के महामंत्री प्रशांत लाल ठाकुर ने कहा कि उन्होंने कोतवाली पुलिस, महापौर व डीएम कार्यालय को फोन कर पूरी सूचना दी। दोपहर 12:15 बजे तातारपुर पुलिस पहुंची और कुछ देर बाद एंबुलेंस भी। चालक कोरोना के डर से लाश उठाये बगैर एंबुलेंस लेकर चला गया तो तातारपुर पुलिस भी अपना कर्तव्य अदा किये बगैर ही चली गयी। दोपहर दो बजे डिप्टी मेयर पहुंचे वहीं सिटी एसके सरोज पुलिस दल के साथ पहुंचे। उसके बाद लाश को कोरोना जांच के लिए सदर अस्पताल पहुंचाया। जहां बुधवार की देर शाम में आयी कोरोना जांच रिपोर्ट में मृतक कोरोना पॉजिटिव निकला। ऐसे में दवा की दुकान पर दवा खरीदने के लिए जितने लोग भी आये होंगे, उनमें कोरोना संक्रमण की आशंका है।