रिश्वतखोरों को रंगेहाथ पकड़ने वाले मालवा एसडीपीओ का हाथ रंग गया रिश्वत से

शेयर करें:

सिवनी मालवा। सिवनी मालवा में आज सुबह पुलिस के अनुविभागीय अधिकारी शंकरलाल सोनया को लोकायुक्त ने 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया। दीपक धन्यासे 34 वर्ष निवासी डागाजी मार्ग देवल मोहल्ला सिवनी मालवा जिला होशंगाबाद ने एसडीओपी पर सट्टा खिलाने के लिए 20 हजार रुपये मांगने का आरोप लगाया था। जांच के बाद शिकायत सही पाई गई।

सट्टा खिलवाने की एवज में मांगे थे 20 हजार
वहीं सूत्रों की मानें तो इस मामले में आवेदक दीपक धन्यासे पिता स्व0 शिवप्रसाद धन्यासे उम्र 34 वर्ष निवासी डागाजी मार्ग देवल मोहल्ला सिवनी मालवा जिला होशंगाबाद से सट्टा खिलवाने की एवज में एसडीओपी ने 20 हजार की रिश्वत की मांग की थी जिसकी शिकायत फरियादी द्वारा लोकायुक्त से की गई थी जिसके बाद आज लोकायुक्त ने कार्यवाही करते हुए एसडीओपी को रंगेहाथ दबोच लिया।

पहले थे लोकायुक्त डीएसपी
वहीँ आज जो आरोपी बनकर बैठे है कभी दूसरों के हाथ रँगवाते थे लेकिन क्या करें माया है ही ऐसी चीज जिसके चलते पूर्व लोकायुक्त डीएसपी व वर्तमान एसडीओपी शंकरलाल सोनया एस. डी.ओ.पी. सिवनी मालवा जिला होशंगाबाद आवेदक से सट्टा खिलवाने में सहयोग प्रदान करने के लिए रिश्वत की मांग कर दी इनके द्वारा दिनांक 21.01.2020 को 20,000 रुपये रिश्वत की मांग की गई थी जो आज दिनांक 23.01.2020 को आरोपी शंकरलाल सोनया आवेदक से रिश्वत राशि 20,000 रुपये लेते हुए रंगेहाथ पकड़े गये।

कमरे में बुलाकर कर रहे थे लेनदेन
वहीं एसडीओपी के खिलाप लोकायुक्त की टीम द्वारा यह कार्यवाही सामुदायिक स्वास्थ केंद्र के सामने डॉक्टर्स लाइन प्रथम तल पर की आरोपी का जहाँ कमरा है सिवनी मालवा लोकायुक्त में डीएसपी रह चुके एसएल सोनिया जो वर्तमान में सिवनी मालवा के एसडीओपी हैं आज उन्हें लोकायुक्त ने ही रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा.लेकिन खुद पर हुई कार्यवाही ने उन्हें बीमार कर दिया व वे लोकायुक्त छापे के बाद सोनिया अस्पताल में भर्ती हो गए। इस घटना के बाद मोहकमे में हड़कम्प है।