स्वच्छता के आयोजन को जन आन्दोलन बनाये- सचिव भारत सरकार – के एस माथुर

शेयर करें:

मुरैना @ सचिव भारत सरकार के एस माथुर ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह सपना है कि भारत स्वच्छ और सुंदर हो, भारत का हर नागरिक स्वस्थ्य रहे और देश के विकास में अपना योगदान दे, इसी उद्देश्य को रखकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज से तीन वर्ष पूर्व सम्पूर्ण देश में स्वच्छता अभियान की शुरूआत की थी। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा प्रारंभ किये गये स्वच्छता अभियान से अपेक्षित परिणाम मिले हैं। उन्होने कहा कि अभी स्वच्छता के क्षेत्र में आगे बहुत कुछ करने की आवश्यकता है।

देश के हर नागरिक की यह जिम्मेदारी है कि वह अपने घर, आंगन और पर्यावास को स्वच्छ और सुंदर रखे। स्वच्छता से ही भारत स्वच्छ और सुंदर होगा, भारत की हर गलियां महकेंगी, लोग खुशहाल होगें और हम निरंतर प्रगति और खुशहाली की ओर बढ़ेंगे। उन्होने लोगों से अपील करते हुये कहा कि वे प्रधानमंत्री द्वारा चलाये गये स्वच्छता ही सेवा अभियान में भागीदार बने, अपने घर-आंगन की साफ-सफाई करें, हर घर में शौचालय बनायें शौचालयों का उपयोग करें और स्वच्छता अपने स्वभाव में लायें। यह बात उन्होने आज नगर पालिक निगम के सभाकक्ष में पखवाडा शुभारंभ अवसर पर कही।

इस अवसर पर महापोर अशोक अर्गल, कलेक्टर भास्कर लाक्षाकार, सभापति अनिल गोयल, प्रो. विनायक सिंह तोमर, आयुक्त नगर निगम डी एस परिहार सहित पार्षद एवं गणमान्य नागरिक मौजूद थे। समारोह का शुभारंभ सचिव भारत सरकार के एस माथुर ने माँ सरस्वती के छाया चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित कर किया। महापोर अशोक अर्गल ने कहा कि हमारी यह विडंबना है कि शिक्षित और पढ़े लिखे लोग कचरा फैलाते हैं और जिन्हें अनपढ़ और ग्रामीण समझा जाता है वे सफाई का काम करते हैं। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री ने 2019 तक देश को स्वच्छ और सुंदर बनाने का संकल्प लिया है, इसमें सभी को भागीदारी सुनिश्चित करने की आवश्यकता है।

कलेक्टर भास्कर लाक्षाकार ने कहा कि स्वच्छता हमारे स्वाभाव में होना चाहिए, उन्होने कहा कि स्वच्छता सभी को अच्छी लगती है, किंतु आलश्यवश हम स्वच्छ रहने का प्रयास नहीं करते हैं। उन्होने कहा कि साफ-सफाई सिर्फ नगर पालिका के कर्मचारियों का कार्य नहीं है, बल्कि नगर मे रहने वाले प्रत्येक नागरिक का दायित्व है। कलेक्टर ने कहा कि गांवों में बड़ी संख्या में शौचालय बनाये जा रहे हैं, किंतु ग्रामीण शौचालयों का उपयोग कराना भी जरूरी है।

प्रो. विनायक सिंह तोमर ने कहा कि जल संवर्द्धन और जल की शुद्धत को बनाये रखना एक चुनौती का कार्य है, आज शुद्ध जल को सहेजने की जरूरत है। उन्होने कहा कि मुरैना जिले में जल संवर्द्धन के लिये नाला बंधान और बोरी बंधान के कार्य कराये जा रहे हैं तथा जल संरक्षण के लिये निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं। कार्यक्रम आभार उप आयुक्त नगर निगम श्री विशाल सिंह ने व्यक्त किया। कार्यक्रम संचालन श्री रामकुमार सिकरवार ने किया। कार्यक्रम में सभी को स्वच्छता की शपथ दिलाई गई।